डार्कवेब पर बेचे जा रहे है इस ऐप का उपयोग करने वाले यूजर्स के फोन नंबर

यदि आप कुछ ही वक़्त में रफ़्तार से लोकप्रियता बटोरने वाले क्लबहाउस ऐप का उपयोग करते हैं तो यह जानकारी आपको परेशान कर सकती है क्योंकि क्लबहाउस उपयोगकर्ताओं के लाखों मोबाइल नंबर कथित तौर पर लीक हो गए हैं तथा डार्क वेब पर विक्रय किए जा रहे हैं। इस बात की खबर साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञ जितेन जैन ने दी है। बता दें कि मशहूर ऑडियो चैट ऐप का डेटासेट सिर्फ मोबाइल नंबर दर्शाता है तथा कोई अन्य खबर नहीं दर्शाता है।

वही प्रमुख साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट जितेन जैन ने ट्वीट कर इस बात की खबर दी है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, “क्लबहाउस उपयोगकर्ताओं के 3।8 बिलियन (380 करोड़) मोबाइल नंबर्स को डार्कनेट पर बेचा जा रहा है। इसमें उपयोगकर्ताओं के फोनबुक में सम्मिलित व्यक्तियों के नंबर हैं जिन्हें सिंक किया गया है। तो ऐसे में यह आशंका है कि आपका नंबर भी इस सूची में संम्मिलित हो चाहे भले ही आपने क्लबहाउस में लॉगिन न किया हो।”

हालांकि, ऑडियो चैट ऐप ने अभी तक कथित डेटा लीक की पुष्टि नहीं की है। वहीं आजाद सुरक्षा शोधकर्ता राजशेखर राजहरिया ने इस कथित क्लबहाउस डेटा को फर्जी बताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि, "एक हैकर कथित रूप से क्लबहाउस के 3।8 बिलियन मोबाइल नंबर्स की बिक्री कर रहा है। यह पूरी प्रकार से फेक नजर आ रहा है। इसमें केवल बगैर किसी नाम और तस्वीर के केवल फ़ोन नंबर नजर आ रहे हैं। मोबाइल नंबर्स की लिस्ट को सरलता से बनाया जा सकता है।” आपको बता दें कि इस वर्ष फरवरी में, अमेरिका में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों ने चेतावनी दी थी कि ऐप चीनी सरकार को उपयोगकर्ताओं के ऑडियो डेटा को लीक कर सकता है। 

फैंस के लिए जल्द कुछ नया ला रही है मलाइका अरोड़ा, खुद किया खुलासा

कोरोना वैक्सीन की बर्बादी पर बोले तेजस्वी यादव- 'बिहार को नीचे से...'

सेकेंड ग्रेड टीचर ने बदली ग्रामीणों में शिक्षा की धारणा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -