अटल जी के जाने से पीएम मोदी के सिर से उठा पिता का साया

नई दिल्ली. 16 अगस्त का दिन देशभर के लिए दुखों का पहाड़ लेकर आया था. इस दिन देश ने अपने नायाब रत्न को खो दिया. पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न से सम्मानित अटल बिहारी वाजपेयी ने 16 अगस्त की शाम 5 बजकर 5 मिनट पर अंतिम सांस ली. अटल जी के निधन पर कई राज्यों के स्कूलों-कॉलेजों में छुट्टी का ऐलान कर दिया गया था. इन राज्यों में दिल्ली, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, बिहार, झारखंड और पंजाब शामिल हैं. वाजपेयी जी के निधन पर 7 दिन के राष्ट्रीय शोक भी घोषणा की है.

यमुना किनारे होगा अटलजी का अंतिम संस्कार, देश भर में 7 दिन का राजकीय शोक घोषित

प्रधानमंत्री समेत देश के कई बड़े नेता अटल जी को श्रद्धांजलि देने उनके निवास स्थान कृष्ण मेनन मार्ग पहुंचे. रातभर अटल जी के पार्थिव शरीर को उनके निवास स्थान पर रखा गया था और आज सुबह नौ बजे उनके पार्थिव शरीर को भाजपा मुख्यालय पर ले जाया जाएगा. इसके बाद भाजपा मुख्यालय से ही करीब 1 बजे अटल जी की अंतिम यात्रा शुरू होगी. अटल जी को यमुना राजघाट के करीब राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर ​ले जाएंगे और वहां करीब चार बजे अटल जी का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

चीनी समाचार एजेंसी ने वाजपेयी की जगह फर्नांडीज की तस्वीर लगा दी, लोगों का गुस्सा फूटा

अटल जी के निधन से पीएम मोदी काफी भावुक नजर आए. मोदी ने अपना दुःख जताते हुए ये भी कहा कि- 'उनके लिए अटल जी का जाना पितातुल्य संरक्षक का साया सिर से उठने जैसा है'. सोशल मीडिया पर भी अटल जी को श्रद्धांजलि दी जा रही है और #atalbiharivajpayee भी इस समय ट्रेंड पर ही बना हुआ है. आपको बता दें नौ हफ़्तों से अटल जी दिल्ली के एम्स में भर्ती थे.

ख़बरें और भी...

त्वरित टिप्पणी: राजनीति के अजातशत्रु अटल...

विजय घाट पर बनेगा अटलजी का स्मारक, डेढ़ एकड़ जमीन आवंटित

पहली बार सिर्फ 13 दिनों के लिए प्रधानमंत्री बने थे अटल, जाने उनसे जुडी 10 अनसुनी बातें

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -