गणपति फेस्टिवल के पहले बुधवार पर जरूर करें ये उपाय

देश के कई भागों में इन दिनों गणेश पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। प्रत्येक वर्ष भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से लेकर अनंत चतुर्दशी तक दस​ दिवसीय गणपति पर्व मनाया जाता है। ये दिन गणेश जी की पूजा के लिए बेहद विशेष होते हैं। प्रभु श्री गणेश की पूजा से परिवार में सुख-समृद्धि आती है। क्योकि हफ्ते में बुधवार का दिन गणेश जी को समर्पित होता है, ऐसे में गणेश पर्व के बीच पड़ने वाले बुधवार की अहमियत कहीं अधिक बढ़ जाती है।

वही इस बार ये बुधवार आज 15 सितंबर को है। गणेश जी को विघ्नहर्ता तथा सुखकर्ता बोला जाता है। अगर सच्चे मन से गणपति बप्पा की पूजा की जाए तो परिवार से बड़े से बड़ा खतरा टाला जा सकता है। कोरोना महामारी के पश्चात् ज्यादातर व्यक्ति आर्थिक दिक्कतों से जूझ रहे हैं। किसी के पास नौकरी नहीं है, तो किसी का कारोबार ठीक से नहीं चल रहा। अगर आप भी ऐसी किसी समस्याएं से तंग आ गए हैं तो बुधवार के दिन कुछ उपाय अवश्य करें। ये उपाय आपके दुख को दूर कर सकते हैं।

1- अगर घर में रुपया नहीं टिकता है या निरंतर आर्थिक हानि हो रही है तो बुधवार के दिन हरी मूंग का दान करें। इसके अतिरिक्त सवा पाव हरी मूंग को उबालकर इसमें चीनी तथा घी मिलाकर गाय को खिलाए। यदि संभव हो तो इसे निरंतर 7 बुधवार तक करें। इससे आर्थिक संकट दूर होने लगते हैं तथा धन प्राप्ति के नए मौके प्राप्त होते हैं।

2- बुधवार के दिन गाय को हरी घास खिलाने से आर्थिक समस्याएं दूर होती हैं। अगर आप चाहें तो अपने वजन के बराबर चारा खरीदें तथा ये ​बुधवार के दिन किसी गौशाला में दान कर दें। इससे आपके तमाम बुरे प्रभाव ख़त्म होते हैं तथा घर में धन-दौलत के साथ खुशियां आती हैं।

3- गणेश जी को लड्डू बहुत पसंद हैं। आप घर में गुड़ के लड्डू गाय के घी से बनाएं तथा बुधवार के दिन इसका भोग गणेश जी को लगाएं। इससे माता लक्ष्मी खुश होती हैं तथा घर से दरिद्रता दूर होती है।

4- बुधवार के दिन 7 साबुत कौड़ियां लें तथा एक मुट्ठी हरे खड़े मूंग लें। दोनों को प्रत्येक कपड़े में बांधकर मंदिर की सीढ़ियों पर रख आएं। इस उपाय को गुपचुप तरीके से करें। किसी को कुछ न कहे। इससे घर में धन के आगमन में आ रही बाधा दूर होती हैं तथा परिवार में सुख समृद्धि आती है।

आज इन 3 राशि के लोगों के लिए नहीं है अच्छे संकेत, बरतना होगी अधिक सावधानी

धर्म बदलकर ईसाई बना था आदिवासी परिवार, अब गांववालों ने शव दफनाने को नहीं दी जगह

जानिए गणेश जी के किस स्वरूप की पूजा करने पर पूरी होती है कौन सी मनोकामना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -