आसाराम को मिल सकती है नए साल में खुशखबरी!

Jan 04 2016 06:14 PM
आसाराम को मिल सकती है नए साल में खुशखबरी!

जोधपुर। किशोरी के यौन शोषण के आरोपी प्रवचनकार और संत आसाराम के लिए नववर्ष खुशखबरी लेकर आया है। यदि उनकी किस्मत अच्छी रही और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व अभिभाषक सुब्रमण्यम स्वामी के सारे दावे अच्छे रहे तो आसाराम जेल की सलाखों से बाहर आ सकते हैं। इस मामले में स्वामी, आसाराम के केस की तैयारियों में लगे हैं। जोधपुर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार के सामने स्वामी ने पैरवी की। जिसमें उन्होंने कई तरह के तर्क दिए।

उन्होंने कहा कि सहअभियुक्तों को जमानत दी जा चुकी है और आसाराम से पूछताछ भी पूरी हो चुकी है। उनका कहना था कि पीडि़ता के शरीर पर किसी तरह के चिन्ह नहीं पाए गए। जिससे ऐसा लगता हो कि उसके साथ किसी तरह की जबरदस्ती हुई। उनका कहना था कि 15 अगस्त वर्ष 2012 को घटना घटी जिसमें यह कहा गया कि 4 दिन बाद 19 अगस्त को दिल्ली में रिपोर्ट क्यों दर्ज करवाई गई।

न्यायालय से इस मामले में निवेदन किया गया कि उनकी आयु और बुढ़ापे को भी ध्यान में रखा जाना चाहिए। इसी के आधार पर केस की सुनवाई करना चाहिए। दरअसल आसाराम ने 6 ठी बार जमानत अर्जी प्रस्तुत की है। उल्लेखनीय है कि आसाराम पर आरोप है कि उन्होंने जोधपुर के समीप मणाई आश्रम में गुरूकुल की एक नाबालिग लड़की का यौन शोषण किया था। उन्हें इंदौर के आश्रम से पकड़ा गया।