क्या आप भी बनारस घूमने का प्लान बना रहे हैं? इस जगह की यात्रा अवश्य करें अन्यथा यात्रा अधूरी रह जाएगी।

क्या आप भी बनारस घूमने का प्लान बना रहे हैं? इस जगह की यात्रा अवश्य करें अन्यथा यात्रा अधूरी रह जाएगी।
Share:

यदि आप भारत की यात्रा की योजना बना रहे हैं, तो अपने यात्रा कार्यक्रम में बनारस को अवश्य शामिल करें। यह प्राचीन शहर, जिसे वाराणसी के नाम से भी जाना जाता है, एक सांस्कृतिक और आध्यात्मिक केंद्र है जो एक अविस्मरणीय अनुभव का वादा करता है। यहां बताया गया है कि आपको इस रत्न को क्यों नहीं छोड़ना चाहिए:

1. गंगा की आध्यात्मिक पवित्रता

बनारस में, शक्तिशाली गंगा नदी केंद्र में है। तीर्थयात्री और पर्यटक समान रूप से घाटों पर इकट्ठा होते हैं, पवित्र अनुष्ठानों को देखते हैं और हवा में व्याप्त आध्यात्मिक ऊर्जा को महसूस करते हैं।

2. मंत्रमुग्ध कर देने वाला घाट का दृश्य

दशाश्वमेध घाट, मुख्य और सबसे पुराना घाट, शाम की गंगा आरती के दौरान जीवंत हो उठता है। लयबद्ध मंत्रोच्चार, टिमटिमाते दीपक और जीवंत वातावरण एक ऐसा दृश्य बनाते हैं जो मंत्रमुग्ध करने वाला और गहरा दोनों होता है।

2.1 अस्सी घाट: एक शांत पलायन

एक शांत अनुभव के लिए, अस्सी घाट पर जाएँ। यहां, आप अधिक शांत आरती देख सकते हैं और भीड़-भाड़ वाली भीड़ से दूर शांति का आनंद ले सकते हैं।

3. आध्यात्मिक ज्ञान की खोज: बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू)

यह शहर बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का घर है, जो एक प्रसिद्ध संस्थान है जो न केवल अकादमिक ज्ञान प्रदान करता है बल्कि भारत की समृद्ध सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत की झलक भी प्रदान करता है।

4. वाराणसी की भूलभुलैया गलियाँ

पुराने शहर की संकरी, घुमावदार सड़कों पर घूमें। हलचल भरे बाज़ार, जीवंत रंग और स्ट्रीट फूड की सुगंध एक ऐसा अद्भुत अनुभव पैदा करते हैं जो बनारस के सार को दर्शाता है।

4.1 छिपे हुए रत्नों की खोज

खो जाने से मत डरो! कुछ सबसे मनमोहक खोजें छिपी हुई गलियों में की जाती हैं, जहां हर कोना एक कहानी कहता है।

5. सारनाथ: जहां बुद्ध ने अपना पहला उपदेश दिया था

बनारस से कुछ ही दूरी पर सारनाथ है, जो अत्यंत ऐतिहासिक महत्व का स्थान है। यहीं पर बुद्ध ने अपना पहला उपदेश दिया, जिससे बौद्ध धर्म की शुरुआत हुई।

6. बनारस सिल्क: बुनकरों का स्वर्ग

प्रसिद्ध बनारसी सिल्क साड़ियों की खोज करके शहर की समृद्ध कपड़ा विरासत का आनंद लें। जटिल बुनाई प्रक्रिया का गवाह बनें और कला का एक नमूना घर ले जाएं।

6.1 बुनकरों की गलियाँ: परदे के पीछे

कारीगरों को काम करते हुए देखने के लिए बुनकरों की गलियों में जाएँ, जो धागों को ऐसे कालजयी टुकड़ों में बदलते हैं जिनकी दुनिया भर में पूजा की जाती है।

7. स्वादिष्ट स्ट्रीट फूड का आनंद

बनारस खाने के शौकीनों के लिए स्वर्ग है। गरमागरम कचौरी से लेकर मलाईदार लस्सी तक, यहां का स्ट्रीट फूड लजीज व्यंजन का आनंद देता है।

7.1 मलइयो: एक मिठाई असाधारण

अपने मीठे स्वाद का आनंद बनारस की विशेष मिठाई मलइयो से लें, यह एक झागदार, मलाईदार मिठाई है जो आपके मुंह में पिघल जाती है।

8. प्रचुर मंदिर: आनंद माँ का मंदिर

भीड़ से दूर एक शांत वातावरण में आध्यात्मिकता का अनुभव करने के लिए, आनंद माँ के मंदिर, एक शांत और कम प्रसिद्ध रत्न, पर जाएँ।

9. सांस्कृतिक विविधता को अपनाना: कबीर चौरा

कबीर चौरा का अन्वेषण करें, एक ऐसा स्थान जो प्रसिद्ध संत कबीर की शिक्षाओं का जश्न मनाता है। अपने आप को उस सांस्कृतिक समामेलन में डुबो दें जिसका बनारस गर्व से प्रतिनिधित्व करता है।

10. नाव से बनारस का अनुभव: एक अविस्मरणीय यात्रा

सूर्योदय या सूर्यास्त के दौरान गंगा के किनारे नाव की सवारी करें। आकाश में रंगों का खेल और नदी पर प्रतिबिंब एक मनमोहक चित्रमाला बनाते हैं। बनारस सिर्फ एक गंतव्य नहीं है; यह एक ऐसा अनुभव है जो आपकी आत्मा में रहता है। आध्यात्मिक मुठभेड़ों से लेकर सांस्कृतिक तल्लीनता और पाक आनंद तक, यह शहर यादों का एक जाल बुनता है जो आपके जाने के बाद भी लंबे समय तक आपके साथ रहेगा।

आखिर क्यों सरकार ने लगाया मुस्लिम लीग पर बैन, जानिए मामला

‘इंशाअल्लाह, जल्द एक और पुलवामा होगा’, मदरसे के छात्र ने दी आतंकी हमले की धमकी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

'सेना को सिर्फ देश को दुश्मनों से बचाना नहीं है, बल्कि देशवासियों का भी दिल जीतना है', राजौरी में सेना से बोले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -