.....तो महिलाएं इसलिए नहीं चाहती बच्चे पैदा करना

बीजिंग : इसे चीन की जानसांख्यिकी विस्फोट का नतीजा मानें या फिर वर्किंग महिलाओं की मजबूरी। दरअसल एक रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन में जनसंख्या के संकट का सामना करने के लिए सरकार द्वारा बनाई गई दो बच्चों की नीति की ओर लोगों का रुझान फीका सा है। वहां की 60 फीसदी कामकाजी महिलाएं दूसरा बच्चा नहीं चाहती है।

चीनी जॉब साइट झाओपिन डॉट कॉम ने मदर्स डे के मौके पर जारी अपनी रिपोर्ट में कहा कि 60 प्रतिशत महिलाएं दूसरा बच्चा नहीं चाहती और 29.39 प्रतिशत महिलाओं ने बच्चे को जन्म ही नहीं दिया। इनमें से 20.48 प्रतिशत का कहना है कि वो बच्चा नहीं चाहती।

इस साइट ने इस सर्वे के लिए कुल 14290 महिलाओं से सवाल किए। जब महिलाओं से पूछा गया कि वो बच्चा क्यों नहीं चाहती तो 56 फीसदी ने कहा कि पालन-पोषण का खर्च चिंता का विषय है। दूसरी चिंता पालन-पोषण में लगने वाला समय, ऊर्जा और ध्यान है।

इसके अलावा प्रसव के दौरान होने वाली पीड़ा-जोखिम और शादी में विश्वास न करना भी कारण है। 70 प्रसेंट महिलाएं मानती है वो बच्चे के लिए अपना जॉब नहीं छोड़ेगी। झाओपिन से जुड़े एक वरिष्ठ परामर्शदात्री वान यिक्सिन ने कहा कि ज्यादातर करियर महिलाएं सोचती है कि पूरी तरह पति की कमाई पर जीवन बीताना संभव नहीं है।

उन्होंने कहा कि अन्य कारणों में उनकी अपनी महत्वाकांक्षाएं हैं। उन्हें डर है कि यदि उन्होंने कामकाज छोड़ दिया तो वह गतिशील समाज में अलग थलग पड़ जाएंगी और अपनी करियर संभावना गंवा बैठेंगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -