दिवालिया होगी 'रिलायंस' कैपिटल, भारतीय रिज़र्व बैंक ने शुरू की प्रक्रिया

नई दिल्ली: इन दिनों कारोबार के मामले में अनिल अंबानी के दिन कुछ सही नहीं चल रहे हैं। उनके नेतृत्व वाले रिलायंस समूह की कर्ज में डूबी कंपनी रिलायंस कैपिटल लिमिटेड को दीवालिया घोषित करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने प्रक्रिया आरंभ कर दी है। इसके लिए रिज़र्व बैंक ने राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण NCLT से अनुमति मांगी है।

गुरुवार को RBI ने कहा कि उसने रिलायंस कैपिटल लिमिटेड (RCL) को दिवालिया घोषित करने के लिए NCLT की मुंबई पीठ के समक्ष दिवाला और दिवालियापन संहिता IBC की कई अलग-अलग धाराओं में CIRP शुरू करने के लिए एक अर्जी दाखिल की है। उल्लेखनीय है कि NCLT के पास दाखिल किये गए RBI के आवेदन के बाद से रिलायंस कैपिटल पर अंतरिम रोक लग जाएगी। इसके बाद कर्जदार कंपनी अपनी किसी भी परिसंपत्ति का स्थानांतरण या बिक्री नहीं कर सकेगी।

रिलायंस कैपिटल ने गत वर्ष सितंबर में वार्षिक आम बैठक में शेयरहोल्डर को बताया था कि कंपनी के ऊपर एकीकृत रूप से 40,000 करोड़ रुपये का लोन है। जानकारी के अनुसार, कंपनी को मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 1,156 करोड़ रुपये का एकीकृत नुकसान हुआ। वहीं उसकी आमदनी 6,001 करोड़ रुपये रही। इसके साथ ही वित्तीय वर्ष 2020-21 में कंपनी को 9,287 करोड़ रुपये का नुकसान और कुल आमदनी 19,308 करोड़ रुपये रही थी।

किसानों से अधिक व्यापारियों ने की आत्महत्या, सरकार ने संसद में पेश किए आंकड़े

महंगाई का जोरदार झटका! माचिस से लेकर TV रिचार्ज तक इन चीजों के बढ़े दाम

उड़ान के बेहद शौक़ीन थे जहांगीर रतनजी

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -