सहरी के लिए ढोल बजाकर मुसलमानों को जगाता है यह सिख बुजुर्ग

रमजान का पाक महीना चल रहा है और इस महीने में केवल अल्लाह का ही नाम हर मुसलमान की जुबान पर है. ऐसे में रमजान के पाक महीने में धर्म में एकता देखने का एक उदाहरण मिला है. जी दरअसल में इन दिनों जम्मू-कश्मीर राज्य के पुलवामा जिले में कुछ ऐसा हो रहा है जिसके बारे में जानने के बाद हर कोई हैरान है. जी दरअसल में वहां पर इन दिनों एक सिख बुजुर्ग व्यक्ति हर दिन सहरी के लिए अपने मुस्लिम पड़ोसियों को जगाने के लिए ढोल बजाता है जिसके बाद सब उठते हैं और सहरी करते हैं. इन दिनों इस सिख बुजुर्ग का वीडियो बहुत ही तेजी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और पसंद भी किया जा रहा है. हर दिन वह सिख व्यक्ति पड़ोसियों को जगाने के लिए ढोल लेकर आता है और चिल्लाता है ''अल्लाह रसूल के प्यारो,जन्नत के तलबगारो,उठो रोज़ा रखो।''

 

अभी तक इस व्यक्ति का नाम और पता किसी को मालुम नहीं चला है लेकिन बस यह बात सामने आई है कि यह कोई मुस्लिम नहीं बल्कि सिख व्यक्ति है. कुछ समय पहले ही एक ऐसा मामला आजमगढ़ के मुबारकपुर में भी सुनने को मिला था जहाँ गुलाब यादव नाम का एक व्यक्ति हर दिन मुसलमानो को सहरी के लिए जगाते है. वाकई में धर्म कि बेड़ियों को तोड़कर ऐसा करना भी बहुत हिम्मत वाला काम है. रमजान के पाक महीने में अल्लाह की इबादत करने वाले मुसलमानों को जगाना भी सवाब का काम है.

रमजान के पाक माह में 'अल्लाह हु अकबर' के नारों के बीच बेल्जियम में आतंकी हमला

सिख और मुसलमान के भाई चारे की मिसाल ,वायरल वीडियो

रमज़ान में बिकिनी पहनने पर इस मुस्लिम एक्ट्रेस को फैंस ने सिखाया सबक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -