डायनासोर के समय से जीवत है ये अद्भुत प्राकृतिक अजूबा, इतिहास में छिपे है कई गहरे राज

डायनासोर के समय से जीवत है ये अद्भुत प्राकृतिक अजूबा, इतिहास में छिपे है कई गहरे राज

मनुष्य के जीवन में पेड़ सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है, क्योकि पेड़ो की मदद से इंसान को जीवनदायनी आक्सीजन प्राप्त होती है. पेड़ो से मिलने वाली साफ और शुध्द हवा की वजह से इंसान की सांसो में हानिकारक कार्बन डाई आक्साइड की मात्रा संतुलित रहती है. पेड़ो के मामले में दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने सभी प्रजातियों के पेड़ो की खोज आज भी नही की है. दुनिया में कई ऐसे रहस्यमई और अनोखे पेड़ मौजूद है, जिसकी उत्पति हर किसी के लिए पहेली बन गई है. आइए जानते है दुनिया के 6 अनोखे पेड़ो के बारें में विस्तार से...

जनरल शरमन

कैलिफोर्निया के सिक्योइया नेशनल पार्क में एक अनोखा पेड़ मौजुद है, जिसे लगभग 2300 से 2700 साल पुराना माना जाता है. लाल लकड़ी वाला ये पेड़ 275 फीट ऊंचा और 25 फीट मोटा है. इतने साल पुराने होने की वजह से जनरल शरमन पेड़ पार्क में आने वाले पर्यटकों को अपना दीवाना बना देता है. इस पेड़ का नामकरण अमेरिकी नागरिक युद्ध के जनरल शरमन के नाम पर किया गया है. अपने खूबसूरत आकार और इतिहास की वजह से शरमन पेड़ लंबे समय से पेड़ो की शान बना हुआ है.

वोलेमी पाइन

वैज्ञानिकों का ऐसा मानना है कि किसी समय धरती पर डायनासोर वास करते थे. आज के समय में भी एक जीवत डायनासोर है. जिसका नाम है वोलेमी पाइन, ये कोई डायनासोर नही बल्कि एक वृक्ष है. इस पेड़ के जीवश्म 20 करोड़ साल पुराने है. इसलिए दुनिया के लिए वोलमी पाइन पेड़ रहस्य बना हुआ है. वोलमी पाइन पेड़ को पहली बार 1994 में वैज्ञानिकों द्वारा खोजा गया. करोड़ो साल पुराने होने की वजह से वोलेमी पाइन हर इंसान के लिए कई सवाल खड़े करता है.

शांडेलियर

लाल लकड़ी वाले पेड़ो की चमक हर किसी को लुभाती है. अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को से 175 मील उत्तर में एक ऐसा विशालकाय पेड़ मौजुद है, जिसके नीचे से निकलने के लिए 3 डॉलर का भुगतान करना पड़ता है. इस अनोखे पेड़ का नाम शांडेलियर है. शौकीन लोगों की गाड़ी इस पेड़ के नीचे से निकालने के लिए निर्माताओं ने पेड़ के निचले हिस्से को सुरंगनुमा आकार दिया है. सुरंगनुमा आकार और विशालकाय होने की वजह शांडेलियर वृक्ष लंबे समय से पर्यटकों का ध्यान आकर्षित कर रहा है.  

पांडो

पेड़ो के इतिहास में 80000 हजार साल पुराने पेड़ पांडो को कोई नही भुल सकता है, क्योकि अतिविशालकाय और बेहद वजनी वृक्षों में पांडो का नाम आता है. 60 लाख किलोग्राम के वजन के साथ ये पेड़ जमीन पर खड़ा है. 40,000 तनाएं वाला ये वृक्ष पांडो उटाह के दक्षिण-पश्चिम हिस्से में पाया जाता है, जो फिश लेक से लगभग एक मील की दूरी पर स्थित है. इस दुलर्भ पेड़ में एक और खासियत है, जिसे हर किसी को याद रखने की आवश्यकता है. और वह यह है कि, इस पेड़ की शाखाओं में से ही दूसरा पेड़ जन्म लेता है. क्योकि पांडो की तनाएं एकल रूप से मरती हैं.

द तूल

जनरल शरमन पेड़ की तरह एक और पेड़ मैक्सिकन राज्य सैंटा मारिया में मौजूद है. इस पेड़ ने जनरल शरमन पेड़ को भी पीछे छोड़ दिया है, क्योकि शरमन पेड़ के मुकाबले इस मोटाई 119 फीट है. इस मोटाई और 2,000 साल पुराना होने की वजह से पेड़ ने हर पर्यटक का ध्यान खीचा है. 116 फीट ऊंचाई वाले द तूल वृक्ष का नाम एई अरबो दे तूल' से मिला है. ऐसा माना जाता है कि इस पेड़ को 1400 साल पहले एज्टेक स्टॉर्म नाम के फरीश्ते ने लगाया था. मैक्सिकों देश में ये पेड़ अपने आप में कई राज संजोए हुए है.

बहराइन

दुनिया के मरुस्थलिय इलाके में एक ऐसा पेड़ मौजुद है, जिसकी आयु का कोई भी सही अनुमान नही लगा पाया है. हम जिस पेड़ की बात कर रहे है, उसके आसपास दूर-दूर तक कोई दूसरा पेड़ नजर नही आता है. इस दुलर्भ वृक्ष को बहराइन नाम से जाना जाता है. इस पेड़ के बारें में कुछ लोगो का मानना है,कि ये 400 साल पुराना है.

एक ऐसा 'शापित' होटल, आज तक जहां पर कोई इंसान नहीं ठहर पाया

इस महिला की 47 साल पहले खो गई थी अंगूठी, ऐसी हालत में फिनलैंड के जंगल से मिली

महिला को हिरणों को खाना खिलाना पड़ा भारी, लगा हजारों रुपयों का जुर्माना