इस महिला की 47 साल पहले खो गई थी अंगूठी, ऐसी हालत में फिनलैंड के जंगल से मिली

इस महिला की 47 साल पहले खो गई थी अंगूठी, ऐसी हालत में फिनलैंड के जंगल से मिली

अगर हमारी कोई भी चीज चाहे छोटी हो या बड़ी खो जाने के बाद बहुत अफसोस होता है और हम उसे ढूंढने का काफी प्रयास भी करते जब तक मिलती नहीं हैं तब तक चैन से नहीं बैठ पाते हैं. ऐसे में अगर वो भूली हुई चीज वापस मिल जाए तो खुशी का कोई ठीकाना नहीं रहता है. कुछ ऐसी ही घटना अमेरिका की रहने वाली एक महिला के साथ घटित हुई हैं. इस महिला की खोई हुई अंगूठी करीब 47 साल बाद फिनलैंड के जंगल में मिली. लेकिन जंगल से मिली इस अंगूठी का इस महिला तक पहुंचने का सिलसिला कुछ हटके ही है.

दरअसल अमेरिका में ब्रंसविक की रहने वाली 63 वर्षीय डेब्रा मैक्केना की यह अंगूठी 1973 में गुम हो गई थी. डेब्रा मैक्केना ने बताया कि यह अंगूठी उनके पति शान की है. कॉलेज के दिनों में जब हम दोनों ने एक-दूसरे को डेट करना शुरू किया था तो शान ने इस अंगूठी को पहनी थी, लेकिन कॉलेज छोड़ने के समय उसने मुझे दे दी. हाल ही में फिनलैंड के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र स्थित करीना पार्क में जमीन समतल करने का काम चल रहा है. इस पार्क में मेटल शीट वर्कर मार्क सारीनेन डिक्टेटर की मदद से काम कर रहे थे.  

इसी दौरान उन्हें यह अंगूठी 20 सेंटीमीटर  मिट्टी के अंदर डिटेक्ट हुई. मार्क सारीनेन इस अंगूठी को पाकर काफी खुश हुए. इस अंगूठी पर स्कूल ऑफ मोर्स 1973 अंकित है. इसके आधार पर जब स्कूल एल्यूमिनी एसोसिएशन से संपर्क किया गया तो पता चला कि यह अंगूठी शान की है, जिसके बाद इस अंगूठी को शान के पते पर मेल कर दिया गया. शान की पत्नी डेब्रा मैक्केना इस अंगूठी 47 साल बाद देखकर काफी हैरान हो गई. डेब्रा ने कहा कि मुझे इस बात की कोई उम्मीद नहीं थी कि यह अंगूठी उन्हें वापस मिलेगी.

ना तो सिंदूर भरा ना ही मंगल सूत्र पहनाया, जानिए फिर कैसे हुई शादी

वो दरवाजा जिसे कहते है 'गेट ऑफ डेथ', जहां 10 लाख लोगों ने गंवाई थी जान

दुनिया का एक ऐसा अनोखा नाइट क्लब, जहां संस्कृत गीतों पर थिरकते नजर आते हैं लोग