7 गेंद में 7 विकेट लगातार, अनोखा रिकॉर्ड

क्रिकेट में वैसे तो नित नए रिकॉर्ड बनते रहते हैं और पुराने टूटते रहते हैं, लेकिन क्रिकेट के शुरुआती दौर में जो रिकॉर्ड बने थे, उनमे से अधिकांश ऐसे हैं जो आज तक कोई खिलाड़ी तोड़ नहीं सका है, इतने समय बाद तो अब ये महसूस होने लगा है कि वे रिकॉर्ड टूट ही नहीं सकते, वे अमर हो गए हैं. जैसे ऑस्ट्रेलिया के एक डोमेस्टिक मैच में 1 ही गेंद पर 286 रन बनना. ऐसा ही एक और रिकॉर्ड हम आपके लिए हैं, जो आज से 111 साल पहले बना था और जिसे बनाया था ऑस्ट्रेलिया के ऑल राउंडर अलबर्ट ट्रॉट ने.


क्रिकेट की दुनिया में ये नाम भले ही अंजना सा हो, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के इस काउंटी क्रिकेटर के नाम प्रथम श्रेणी क्रिकेट की एक पारी में दो हैट्रिक लेने का जबरदस्त कीर्तिमान दर्ज है. हुआ यूं कि समरसेट की टीम ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 77/2 रन बनाए थे. ट्रॉट ने हैट्रिक के साथ लगातार चार गेंदों में चार विकेट चटकाए और स्कोर 77/6 हो गया ट्रॉट का ओवर यहाँ ख़त्म हो गया था. इसके बाद स्कोर 97/7 रन था, तो एक बार फिर ट्रॉट ने हैट्रिक लेकर पूरी टीम समेट दी. ट्रॉट का गेंदबाजी विश्लेषण रहा- 8-2-20-7. इस तरह ट्रॉट के 7 गेंदों पर लगातार 7 विकेट हो गए.


अलबर्ट ट्रॉट के बाद प्रथम श्रेणी क्रिकेट की पारी में दो हैट्रिक लेने का कारनामा भारत के जोगिंदर सिंह राव ने किया. 1963-64 में नॉर्दर्न पंजाब के खिलाफ अमृतसर में सेना की ओर से खेलते हुए उन्होंने अपने दूसरे ही मैच में यह उपलब्धि हासिल की. इससे पहले जोगिंदर ने दिल्ली में जम्मू-कश्मीर के खिलाफ डेब्यू में भी हैट्रिक ली थी. यानी इस भारतीय मध्यम गति के तेज गेंदबाज ने दो लगातार मैचों में तीन हैट्रिक ली. लेकिन वे 4 गेंदों पर लगातार 4 विकेट नहीं ले सके. 

धोनी ने अपने नाम किया एक और विश्व रिकॉर्ड

क्रिकेट का रोचक रिकॉर्ड, 1 गेंद में 286 रन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -