नए मालिक के आते ही बदल गए ट्विटर के सारे नियम, जानिए आप भी...

ट्विटर प्लेटफॉर्म फेक न्यूज पर लगाम लगाने का प्रयास भी कर रहा है। इसके लिए ट्विटर की तरफ से नई पॉलिसी की घोषणा कर दी है। नई पॉलिसी के अंतर्गत फेक न्यूज फैलाने वाले पोस्टों पर कार्रवाई भी की जा रही है। जिससे किसी घटना के वक्त यूजर्स को सटीक जानकारी मिल पाएगी। हमेशा देखा है कि किसी आंदोलन के समय ट्विटर पर फेक न्यूज फैलाकर दंगा भड़काने का प्रयास किया जा रहा है। हालांकि अब ऐसी पोस्ट करने वालों से ट्विटर सख्ती से निपटने वाले है। 

मिलेगी ट्विटर से सटीक जानकारी:  ट्विटर का कहना है कि तो संघर्ष या युद्ध के दौरान फेक न्यूज का आंकड़ा और भी बढ़ जाता है, जो संघर्ष बढ़ने का कारण भी बन रहा है। ऐसे में ट्विटर की तरफ से यूजर्स को सटीक जानकारी मुहैया कराने का प्रयास भी किया जा रहा है। ट्विटर की तरफ से प्राकृतिक आपदाओं, मानवीय संकट के दौरान सटीक जानकारी हासिल करने के लिए निर्भर करने वाला है। जिसमे ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट और पत्रकार शामिल होने वाली है।

क्या है ट्विटर की नई पॉलिसी:- 

ट्विटर ने बोला है कि कंपनी अब ऑटोमेटिक मोड से उन पोस्ट को आगे नहीं बढ़ाने वाली है, जो यूक्रेन और रूस के युद्ध की गलत सूचना दे रहे हैं।

ट्विटर की नई पॉलिसी के अंतर्गत ट्विटर मानवीय संकट से जुड़ी फेक न्यूज वाले पोस्ट पर चेतावनी लेबल के साथ जोड़ने वाला है, जिससे गलत जानकारियों को फैलने से भी रोक सकते है।

यूजर्स ट्विटर नियमों का उल्लंघन करने वाली पोस्ट को लाइक, फॉरवर्ड या जवाब नहीं दे सकते है।

ट्विटर मीडिया, चुनाव और मतदान के बारे में फेक न्यूज और स्वास्थ्य संबंधी गलत सूचनाओं को प्रतिबंधित भी करने वाला है।

पुणे में डिजिटल टेक्नोलॉजी हब स्थापित करेगी भारती एयरटेल

टेक्नोलॉजी दिवस पर Koo एप के CEO ने की सीएम योगी से मुलाकात

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर इन दिग्गज नेताओं ने दी शुभकामनाएं

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -