भारतीय तेल प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ाने की मिली सलाह

नई दिल्ली : जब से भारत ने पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया है तब से पाकिस्तान की रणनीति भारत के महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुँचाने की है. पाक द्वारा इन प्रतिष्ठानों पर हमला करवाने की ख़ुफ़िया जानकारी मिलने के बाद इनकी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने की जरूरत महसूस की जा रही है. मिली जानकारी के अनुसार एक पाकिस्तानी जासूस द्वारा तेल कम्पनी के एक कार्यकारी से सूचनाएं हासिल करने सम्बन्धी फोन कॉल सुनने के बाद खुफिया एजेंसी ने तेल मंत्रालय को देश के सभी ऊर्जा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ाने की सलाह दी गई है.

गौरतलब है कि उरी में 18 सितंबर को हुए आतंकवादी हमले और उसके बाद भारतीय सेना के द्वारा पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर में एलओसी के पार आतंकवादी शिविरों पर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दोनों देशों के बीच जबरदस्त तनाव है. पाक अपने छद्म युद्ध को और गति देने के लिए ऐसे ही हमलों की फ़िराक में है. इसलिए भारत में सुरक्षा बल और इंटेलिजेंस एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं.

पाकिस्तानी जासूस द्वारा खुद को रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (आरएडब्ल्यू) का अधिकारी बताकर राजस्थान में एक ऑइल पाइपलाइन संधारित करने वाले अधिकारी से फोन पर उसके बारे में जानकारियां मांगने की बातें सुनने के बाद तेल प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ाने की सलाह दी गई है.

तेल और गैस फील्ड की नीलामी के लिए राजस्व...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -