आज है तृतीया तिथि, जानिए कब है राहुकाल और कब शुभ मुहूर्त

आज के समय में लोग पंचांग देखते हैं और अपने दिन की शुरुआत करते हैं। ऐसे में आज हम लेकर आए हैं आज का यानी 23 अक्टूबर का पंचांग।

23 अक्टूबर का पंचांग- शक संवत् 1943, कार्तिक कृष्ण तृतीया, शनिवार, विक्रम संवत् 2078। सौर कार्तिक मास प्रविष्टे 07, रवि उल्लावल 16, हिजरी 1443 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 23 अक्टूबर 2021 ई०। सूर्य दक्षिणायन, दक्षिण गोल, हेमंत ऋतु।

राहुकाल प्रातः 09 बजे से 10 बजकर 30 मिनट तक। तृतीया तिथि अर्धरात्रोत्तर 03 बजकर 02 मिनट तक उपरांत चतुर्थी तिथि का आरंभ, कृतिका नक्षत्र रात्रि 09 बजकर 53 मिनट तक उपरांत रोहिणी नक्षत्र का आरंभ।

व्यतीपात योग रात्रि 10 बजकर 32 मिनट तक उपरांत वरीयान योग का आरंभ, वणिज करण अपराह्न 01 बजकर 46 मिनट तक उपरांत बव करण का आरंभ। चंद्रमा दिन रात वृष राशि पर संचार करेगा। आज हेमंत ऋतु प्रारंभ।

सूर्योदय का समय 23 अक्टूबर : सुबह 06 बजकर 27 मिनट पर।

सूर्यास्त का समय 23 अक्टूबर : शाम 05 बजकर 43 मिनट पर।

आज का शुभ मुहूर्त 23 अक्टूबर 2021 : अभिजीत मुहूर्त दोपहर 11 बजकर 43 मिनट से 12 बजकर 28 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 01 बजकर 58 मिनट से 02 बजकर 43 मिनट तक रहेगा। निशीथ काल मध्य रात्रि 11 बजकर 40 मिनट से 12 बजकर 31 मिनट तक। गोधूलि बेला शाम 05 बजकर 32 मिनट से 05 बजकर 56 मिनट तक। अमृत काल शाम 07 बजकर 12 मिनट से 08 बजकर 59 मिनट तक रहेगा। सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग रात्रि 09 बजकर 53 मिनट से अगली सुबह 06 बजकर 27 मिनट तक।

आज का अशुभ मुहूर्त 23 अक्टूबर 2021 : राहुकाल सुबह 09 बजे से 10 बजकर 30 मिनट तक। दोपहर 01 बजकर 30 मिनट से 03 बजकर 30 मिनट तक यमगंड रहेगा। सुबह 06 बजे से 07 बजकर 30 मिनट तक गुलिक काल रहेगा। दुर्मुहूर्त काल सुबह 06 बजकर 27 मिनट से 07 बजकर 57 मिनट तक। भद्राकाल दोपहर 01 बजकर 43 मिनट से अगली सुबह 03 बजकर 01 मिनट तक रहेगा।

करवा चौथ पर गुलगुले से व्रत खोलना होता है शुभ, जानिए इसकी आसान रेसिपी

करवाचौथ पर रचाना चाहती हैं डार्क मेहंदी तो जरूर अपनाये यह 6 टिप्स

यामी गौतम से लेकर दीया मिर्ज़ा तक पहली बार करवाचौथ व्रत रखेंगी यह अभिनेत्रियां

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -