तो क्या आपका नाम भी अंग्रेजी के D अक्षर से शुरू होता है

वास्तु शास्त्र के मुताबिक कुछ लोगो के नाम का पहला अक्षर इतना शुभ होता है की वो लोग जो चाहते है उन्हें वो आसानी से मिल जाता है और कुछ लोग इस प्रकार के व्यक्तिगत रूप में ढले हुए होते है की वो किसी को भी अपनी कर लेते है आज हम बात करेंगे की, जिस व्यक्ति के नाम का पहला अक्षर D आता है वे लोग किस मिजाज़ के होते है उनका स्वभाव कैसा होता है तो आईये देखते है. 

जिन व्यक्तियों के नाम का पहला अक्षर अंग्रेजी का D होता है वे व्यक्ति अपनी मंजिल को हर हाल में पाने की कोशिश करते है, ये लोग बहुत जिद्दी किस्म के होते हैं। जिद में आकर ये बहुत मेहनत करते हैं और अपनी मंजिल को पा लेते हैं इन्हें अगर सेल्फ मेड मैन कहा जाए तो बिल्कुल गलत नहीं होगा और यकीन मानिए इनके ऊपर ना सिर्फ देवी सरस्वती और देवी लक्ष्मी, दोनों की ही कृपा होती है, कहने का आशय है कि ये लोग बुद्धिमान और धनवान दोनों ही होते हैं, लेकिन अन्य लोगों को उनकी इस खासियत का पता इतनी आसानी से नहीं लगता.

ऐसे व्यक्तियों को गंभीर प्रवृत्ति का माना जाता है, लेकिन इसके साथ-साथ ये लोग काफी बुद्धिमान भी कहे जाते हैं इनके पास ज्ञान का भंडार होता है, आप इनसे कुछ देर बात करने पर ही समझ जाएंगे कि आप अपने समय का सही प्रयोग कर रहे हैं या नहीं, इन लोगों में सबसे बड़ी कमी है इनका घमंडीपना और जिद्दी स्वभाव है अपने घमंड के चलते कई बार इन्हें असफलता का सामना करना पड़ता है परन्तु जिद्दी स्वभाव का होने के कारण यह कभी भी हार नहीं मानते और अपनी सोच को सर्वोपरि मानते है भले ही इन्हें कितना भी नुक्सान क्यों न उठाना पड़े.

 

जिन व्यक्तियों की ऊँगली होती है छोटी, वो व्यक्ति होते कुछ इस प्रकार के

घर में सीढ़ियां, बोरिंग का होना वास्तुदोष को निमंत्रण देना है

क्या आप जानते है वास्तु दोष को दूर करने के चमत्कारी गुण है अगरबत्ती में

दूसरों से मांगी गई वस्तु आपको कर सकती है परेशान

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -