मेडिकल छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक को बनाया बंधक

नालंदा मेडिकल कॉलेज में गुरुवार की दोपहर पारा मेडिकल छात्रों ने दोपहर एक बजे से लेकर चार बजे तक हंगामा मचाया और परीक्षा नियंत्रकों को बंधक बनाए रखा. यह प्रदर्शन पारा मेडिकल छात्र संघर्ष समिति की ओर से किया गया था. इस दौरान उन्होंने राज्य स्वास्थ्य सेवा बिहार के परीक्षा नियंत्रक व कॉलेज के माइक्रो बायोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ प्रभात कुमार को बंधक बनाकर रखा.

बिहार राज्य पारामेडिकल छात्र संघर्ष समिति के छात्र, गुरुवार  सुबह 11 बजे से पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पास इकठ्ठा होने लगे और पीएमसीएच से कारगिल चौक तक पैदल रैली निकाली. इसके बाद गर्दनीबाग में जाकर धरना प्रदर्शन किया. हंगामे की सूचना मिलने पर अगमकुआं थाना पुलिस कॉलेज पहुंची और प्रदर्शन कर रहे छात्रों से बातचीत कर उन्हें समझा-बुझा कर शांत कराया.

छात्रों की प्रमुख मांगों में पारा मेडिकल काउंसिल की स्थापना, दो वर्ष विलंब से चल रहे सत्र को नियिमत करने, राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों में पारा मेडिकल के बैचलर कोर्स आरंभ करने, प्रशिक्षण मानदेय बढ़ाने, पारा मेडिकल स्टूडेंट के लिए छात्रावास की सुविधा उपलब्ध कराने, कॉलेज में बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने समेत अन्य प्रमुख मांगें शामिल हैं. छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक को बंधक बनाकर उनसे जवाब मांगे. आंदोलनकारी छात्रों ने कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानी, तो इसके खिलाफ संघर्ष और तेज़ किया जाएगा.

70 हजार पारा शिक्षकों के मानदेय में बढ़ोत्तरी

भाईयों ने क्यों करी अपनी बहन की हत्या

नींद में जल गया परिवार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -