सीएम नायडू बने रेप पीड़िता के अभिभावक, क़ायम की मिसाल

May 06 2018 09:23 AM
सीएम नायडू बने रेप पीड़िता के अभिभावक, क़ायम की मिसाल

गुंटूर: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू ने एक ऐसी मिसाल क़ायम की है, जिससे जनता की नज़र में उनका क़द काफी बढ़ गया है. सीएम नायडू ने राजनीति से परे हटकर अपनी संवेदनाए दिखते हुए नाबालिग रेप पीड़िता के अभिभावक बनने का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने खुद इस बात की पुष्टि करते हुए शनिवार को ऐलान किया कि रेप की शिकार 9 साल की लड़की का अभिवाहक बनेंगे और उसकी शिक्षा से जुड़े सभी तरह के खर्च को उठाएंगे.

सीएम नायडू गुंटूर के एक अस्पताल में इलाजरत बलात्कार पीड़िता से मिलने गए थे, जिसके बाद उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा कि वह अपना निजी पैसा उसकी शिक्षा पर तब तक खर्च करेंगे, जब तक वह अपना लक्ष्य हासिल नहीं कर लेती. उन्होंने जिलाधिकारी को एक बेहतर स्कूल खोजने के निर्देश भी दे दिए हैं. साथ ही उन्होंने पीड़िता के परिवार को बतौर मुआवजा 5 लाख, 5 लाख रूपये लड़की के नाम से फिक्सड डिपॉजिट, खेती के लिए 2 एकड़ जमीन और साथ ही पीड़िता के पिता को सरकारी नौकरी देने का भी ऐलान किया है.

आपको बता दें कि बुधवार को गुंटुर जिले में डेचापल्ली में 50 साल के एक रिक्शाचालक ने 9 साल की लड़की के साथ दुष्कर्म किया था, जिसके बाद गाँव के लोगों ने जमकर प्रदर्शन किया था. आरोपी को पकड़ने के प्रयास भी किए गए थे, लेकिन सजा के खौफ से आरोपी ने ख़ुदकुशी कर ली थी. 

आधा देश जलमग्न, 50 से ज्यादा की मौत

देश के कई राज्यों में बारिश और तूफान ने ली दर्जनों जान

आज पीएम मोदी के खिलाफ ताल ठोकेंगे नायडू

 

?