एंकर से बने एक्टर, अपने फन से जीत लिया लोगों का दिल

Mar 16 2015 01:12 AM
एंकर से बने एक्टर, अपने फन से जीत लिया लोगों का दिल
अपने लाजवाब फन, आवाज़ और प्रस्तुतिकरण के रोचक तरीके से एमटीवी सालों से लोगों के दिलों पर छाया हुआ है। इस दौरान एमटीवी को उम्दा पहचान देने के लिए एमटीवी होस्ट्स की तारीफ की जाती है। ऐसे ही होस्ट्स और ऐंकर्स में से एक हैं रणविजय सिंह। अपने नाम के अनुरूप इन्होंने एंकरिंग के रण में विजय पाई और हाल ही में बाॅलीवुड में कदम रखा।

जी हां, मुंबई बेस्ड एमटीवी शो एमटीवी रेडियोज़ में छाने के बाद उन्होंने अभिनय और लेखन में अपना योगदान दिया। रणविजय सिंह का जन्म पंजाब प्रांत के जालंधर में हुआ। रणविजय के पिता जी एक सैन्य अधिकारी हैं। पिता के भारतीय सेना में रहते हुए रणविजय को अधिकांशतौर पर स्कूल बदलने पड़े ऐसे में रणविजय ने करीब 7 विद्यालयों में शिक्षा प्राप्त की , यही नहीं रणविजय ने अपने स्कूली जीवन का अधिकांश समय बोर्डिंग स्कूल में ही बिताया।

इस दौरान उन्होंने नईदिल्ली के धौलकुंआ आर्मी पब्लिक स्कूल में भी अध्ययन किया। यही नहीं दिल्ली यूनिवर्सिटी से संबद्ध लोकप्रिय हंसराज महाविद्यालय से उन्होंने स्नातक की उपाधि प्राप्त की। अपने पिता की तरह रणविजय सिंह भी भारतीय सेना ज्वाॅईन करने निकल पड़े। इस दौरान उन्होंने परीक्षाओं की तैयारी की। परीक्षा देने के बाद मेडिकल परीक्षण भी दिया।

मगर इसी दौरान उन्होंने एमटीवी इंडिया के शो एमटीवी रेडियोज़ सीज़न 1 में भागीदारी करने का अवसर मिला। वर्ष 2003 में उन्होंने फाईनलिस्ट के तौर पर स्थान बनाया। इस दौरान जी न्यूज़ ने उनका एक इंडव्यू भी आॅर्गनाईज़ किया। रणविजय सिंह ने एमटीवी के लिए और भी कई शोज़ किए। इस दौरान रणविजय को कुछ फिल्मों का आॅफर भी मिला।

जिसमें उन्होंने बाॅलिवुड डेब्यू फिल्म के तौर पर टाॅस फिल्म में अभिनय किया। आगने वाले दौर में वे आरती छाबरिया और अश्मित पटेल के साथ नज़र आऐंगे। उन्होंने वर्ष 2009 में लंदन ड्रीम्स में भी अभिनय किया। वे लिव इन रिलेशनशिप के पक्षधर हैं।

?