इस शहर में तेजी से बढ़ रहा कोरोना, तीन सप्ताह में बढ़े 871 पॉजिटिव मरीज और 28 की मौत

भोपाल : मध्य प्रदेश की राजधानी में कोरोना का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है. दिन पर दिन मरीजों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है साथ ही में मौत का आकंड़ा भी बढ़ता जा रहा है. अब शहर में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलने लगा है. इसे देखते हुए भले ही अब कंटेनमेंट क्षेत्र पांच दिन में मुक्त करने के नए नियम आ गए हों, लेकिन भोपाल में अब भी 304 कंटेनमेंट क्षेत्र बने हुए हैं. कंटेनमेंट क्षेत्रों की संख्या अधिक होने के पीछे की वजह यह है कि अनलॉक-1 एक जून से लागू होने के बाद संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है.  

वहीं शहर में 8 जून की स्थिति में 2012 मरीजों पर 166 कंटेनमेंट क्षेत्र थे, वहीं 66 लोगों की मौत हुई थी. इसके अलावा 16 जून की स्थिति में 2518 मरीजों पर 257 कंटेनमेंट क्षेत्र हो गए और मौत का आंकड़ा बढ़कर 75 हो गया है. अब शहर में 2883 संक्रमित मरीज हैं. 304 कंटेनमेंट क्षेत्र हैं, लेकिन मौत 94 हो चुकी हैं. इस तरह तीन सप्ताह में 871 नए मरीज मिले है, 138 कंटेनमेंट क्षेत्र बढ़े और 28 लोगों की मौत शहर में हो चुकी है. शहर में कंटेनमेंट क्षेत्रों की संख्या बढ़कर 304 होने पर करीब 10 हजार से अधिक लोग होम क्वारंटाइन हैं.  

जानकारी के लिए बता दें की शहर में कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित होते ही संबंधित गली में पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित कर दिया जाता है. वहीं क्षेत्र में रहने वाले सभी परिवार होम क्वारंटाइन हो जाते हैं. इन्हें घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती है. कंटेनमेंट क्षेत्र के मापदंडों के आधार पर हर दिन यहां रहने वाले लोगों की स्क्रीनिंग की जाती है. जिसके अंतर्गत आवश्यक सुविधाओं के अतिरिक्त किसी प्रकार के लोगों का बाहर जाना प्रतिबंधित रहता है.

इंदौर में जारी है कोरोना का कहर, 36 नए मामले मिले और तीन ने तोड़ा दम

बिहार में आसमान से बरसी मौत, गई 83 लोगों की जान, पीएम मोदी ने जताया शोक

कोरोना के कहर के आगे स्थगित हुआ बांग्लादेश का श्रीलंका दौरा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -