जबलपुर में 502 कोरोना संदिग्ध आए सामने, इतने लोगों की गई स्क्रीनिंग

जबलपुर : मध्य प्रदेश के आधे से ज्यादा जिलों में कोरोना ने अपने पैर पसार लिए है. कोरोना का खात्मा करने के लिए प्रदेश में कोरोना किल अभियान शुरू हो गया है. वहीं, कोरोना किल अभियान के दौरान शनिवार को कोरोना संकम्रण के 174 संदिग्धों का पता लगा है. हालांकि 1 जुलाई से शुरू हुए इस अभियान में चार दिन के भीतर 502 कोरोना संदिग्ध मिल गए हैं जिनकी सेहत पर पैनी नजर रखी जा रही है.

हालांकि इस अभियान का एक फायदा गर्भवती महिलाओं को भी मिलेगा है. दरअसल, इस अभियान के दौरान पंजीयन से वंचित गर्भवती महिलाओं व टीकाकरण से वंचित बच्चों का भी पता लग रहा है. इस अवधि में अब तक स्वास्थ्य अमला 2 लाख 6 हजार 386 घरों में 7 लाख 30 हजार 227 लोगों की स्क्रीनिंग कर दी गई है. वहीं, अन्य बीमारियों के वजह से कोरोना संक्रमण के खतरे की आशंका पर 737 लोगों को चिन्हित कर सैंपलिंग कराई जा रही है. ये अभियान 15 जुलाई तक चलाया जाएगा. 

जानकारी के लिए बता दें की कोरोना संक्रमण के वजह से टीकाकरण अभियान पर प्रभाव पड़ा जिसके वजह से शून्य से 12 माह के 135 बच्चे टीकाकरण से वंचित रहे है. इसी तरह 2 हजार 616 गर्भवती महिलाओं का भी पंजीयन कर दिया गया है. इस संबंध में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एसएस दाहिया ने बताया कि सर्वे के दौरान टीकाकरण से छूटे बच्चों का पता लगाकर टीके लगवाना सुनिश्चित किया जा रहा है. गर्भवती महिलाओं को वक्त-वक्त पर चिकित्सीय परामर्श के इंतजाम किए जा रहे हैं.

इंदौर में एक ही दिन में दो गुना हुए कोरोना के मामले, मिले 43 नए पॉजिटिव

कोरोना से मौत का शिकार बना था मरीज, रिपोर्ट में सामने आई नई बात

मालवा-निमाड़ में कोरोना ने मचाया तहलका, तेजी से बढ़ रहा संक्रमण का आंकड़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -