40 टन चीनी का निर्यात किया अनिवार्य

नई दिल्ली : केंद्र के द्वारा हाल ही में गन्ना मीलों को यह निर्देश दिया गया है कि अक्टूबर से शुरू हो रहे गन्ना वर्ष में 40 टन चीनी का निर्यात अनिवार्य है. गौरतलब है कि मीले फ़िलहाल नकदी संकट से जूझ रहीं है और केंद्र ने यह निर्देश 14 हजार करोड़ का गन्ना मूल्य बकाया खत्म करने के लिए दिया है. यह बताया जा रहा है कि यह निर्यात अगले महीने से मीलों को शुरू करना होगा. यह बताया जा रहा है कि उत्पादन की अधिकता बनी हुई है और इस कारण देश में चीनी का अतिरिक्त भंडार भी जमा हो गया है.

यही कारण है कि चीनी की कीमते भी 30 रूपये प्रति किलों से भी निचे आ गयी है. जबकि इसी वित्त वर्ष में चीनी का उत्पादन 2.83 करोड़ टन पर रहने का अनुमान लगाया जा रहा है. इस मामले का मीलों ने भी स्वागत किया है और यह सम्भावना जताई है कि इससे बाजार में चीनी की धरना भी सुधरनी चाहिए. और यह भी कहा है कि भारत से चीनी निर्यात को लेकर स्थिति व्यवहारिक नहीं लग रही है. बाजार में लगातार चीनी की कीमतों के कम होने का भी यह कारण बताया जा रहा है. ऐसी स्थिति में यदि सरकार के द्वारा कोई मदद नहीं की जाती है तो निर्यात संभव नहीं है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -