लॉकडाउन के चलते पाकिस्तान में फंसे 300 भारतीयों को मिली भारत आने की अनुमति

May 29 2020 02:02 PM
लॉकडाउन के चलते पाकिस्तान में फंसे 300 भारतीयों को मिली भारत आने की अनुमति

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी की वजह से पाकिस्तान में फंसे 300 से ज्यादा भारतीय नागरिक अपने घर वापस आने की तैयारी में हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत सरकार ने इन लोगों को भारत लौटने की इजाजत दे दी है. मीडिया रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि ये लोग शनिवार को अटारी-वाघा बॉर्डर पार करके भारत पंहुचेंगे. लोगों के इस समूह में जम्मू - कश्मीर के 80 विद्यार्थी शामिल हैं जो लाहौर में पढ़ रहे हैं. 

इसके साथ ही समूह में इस्लामाबाद में 10 भारतीय और ननकाना साहिब में 12 भारतीय नागरिक भी शामिल हैं जो अपने सम्बन्धियों से मिलने गए थे और कोरोना महामारी के बाद यात्रा प्रतिबंधों के कारण वहां फंस गए थे. रिपोर्ट के मुताबिक, तक़रीबन 200 भारतीय नागरिक कराची और पाकिस्तान के सिंध प्रांत के अन्य हिस्सों में रह रहे हैं. इन लोगों को एक हलफनामे पर दस्तखत करने के लिए कहा गया जिसके बाद उन्हें लौटने की इजाजत मिली. पाकिस्तान ने समूह को बॉर्डर पर ले जाने की सारी व्यवस्था कर दी है, उन्हें शुक्रवार रात तक वहां लाया जाएगा और शनिवार को भारतीय अधिकारियों के हवाले कर दिया जाएगा.

इससे पहले 176 पाकिस्तानी नागरिकों को अटारी-वाघा बॉर्डर क्रॉसिंग के जरिए बुधवार को पाकिस्तान भेजा गया जो, लॉकडाउन के चलते भारत में फंस गए थे. इनमें से ज्यादातर लोग तीर्थयात्रा पर भारत आए थे. पाकिस्तानी रेंजरों ने उन्हें सीमा सुरक्षा बल (BSF) से रिसीव किया. ऐडही फाउंडेशन (Edhi Foundation) के मोहम्मद यूनिस ने समाचार एजेंसी पीटीआई को जानकारी देते हुए बताया है कि, "इन लोगों में शामिल महिलाओं और बच्चों समेत पाकिस्तानी नागरिकों को लाहौर में क्वारंटाइन केंद्रों में शिफ्ट कर दिया गया, जहां वे 72 घंटे रहेंगे."

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने नियुक्त किए परिसीमन सदस्य

इस पड़ोसी मुल्क को कोरोना संकट में भारत से भेजे गए कृषि उत्पाद

टिड्डियों के भारत पर हमले के बाद पाकिस्तान ने किया ऐसा काम