3 बीवियों वाला NRI, 10 साल तक करता रहा बलात्कार

Oct 04 2015 12:24 AM
3 बीवियों वाला NRI, 10 साल तक करता रहा बलात्कार

जालंधर। पंजाब में 27 वर्षीय युवती ने NRI सुखदेव पर 10 साल तक बलत्कार और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है। वहीं दूसरी ओर सुखदेव के मुताबिक लड़की पहले ही उनसे 5 लाख रुपए ले चुकी है, अब फिर से झूठे आरोप लगा रही है। वहीं युवती ने कहा कि 17 साल की उम्र में वह सुखदेव सिंह के घर किराए पर रहती थी। सुखदेव इंगलैंड में रहता है और वह अधिकतर समय बाहर रहता है। लड़की ने बताया कि सुखदेव ने उसके परिवार को कहा कि उसे केयर टेकर के लिए लड़की चाहिए। इस पर उसने सुखदेव के साथ रहना शुरू कर दिया।

लड़की ने आरोप लगाया कि सुखदेव ने शादी का झांसा देकर 10 साल तक उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। जानकरी दे की सुखदेव की 3 शादियां हो चुकी हैं। वह 2 पत्नियों के साथ एक साथ रहता था। सुखदेव लड़की से कहता था कि पत्नी छोड़ उससे शादी कर लेगा। जब लड़की ने सुखदेव से कहा कि दोनों के संबंध के बारे में परिवार को बता देगी, तो उसकी बाजू पर चाकू से कई वार किए और गर्म लोहे से दागना शुरू किया। उसके शरीर पर अपने नाम का टैटू बनाकर दिया। लड़की ने कहा कि मामले का परिवार को पता लगने के बाद अब सुखदेव धमकी दे रहा है, कि उसने उसकी अश्लील वीडियो बनाई है, जिसको वह वायरल कर देगा।

लड़की ने कहा कि मामले की थाना में शिकायत की है, जिसको लेकर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। वहीं पुलिस सूत्रों का कहना है की लड़की पहले ही 5 लाख लेकर राजीनामा कर चुकी है। अब झूठे आरोप लगा रही है। मामले को लेकर उन्होंने उच्चाधिकारियों को बता दिया है। वहीं सुखदेव का कहना है की उसकी तीन में से 2 पत्नियों के साथ तलाक हो चुका है। उसके साथ सिर्फ एक पत्नी रहती है। उसको शूगर की बीमारी होने के कारण वह इलाज के लिए इंगलैंड आते-जाते रहते हैं। 10 साल पहले लड़की को देखभाल के लिए रखा था।

लड़की का नाबालिग उम्र में विवाह हो चुका है, जिसका पंचायती तलाक हुआ था। लड़की ने 2012 में उन पर बलात्कार का आरोप लगाया था। तब लड़की को 5 लाख रुपए दिए थे। जिसके बाद वह चली गई थी, कुछ समय बाद माफी मांग फिर से आ गई। सुखदेव ने कहा कि वह विदेश चले गए थे, इंगलैंड से वापस आए तो पता लगा कि लड़की ने उनके घर से 1 लाख 70 हजार की नकदी, 6 तोले सोना और एक मोबाइल चोरी किया है। चोरी की उन्होंने थाने में शिकायत दी है। अब चोरी के मामले से बचने के लिए झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं।