सनस्क्रीन लगाते हैं तो यह जरूर पढ़िए

सनस्क्रीन लगाते हैं तो यह जरूर पढ़िए

सूरज की किरणे हमारी स्किन को कितना नुकसान पहुंचाती है इसका पता आप सबको होगा। इससे होने वाले नुकसान से बचने के लिये हम सन स्क्रीन लोशन का इस्तेमाल करते है. ऐसे लोशन हमारी स्किन के लिए एक सुरक्षा कवच की तरह काम करते हैं और हमें सूरज के दुष्प्रभाव से बचाते हैं. चाहे आप घर में हो या किसी इंडोर जगह में, इसका मतलब यह नहीं है कि यहां सूरज की किरणे आपको नुकसान नहीं पहुंचा सकती इसलिए आपको घर में भी सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। हर रोज इसे लगाने के आदत बना लेना ही बेहतर रिजल्ट दे सकता है. आज हम आपको बताएँगे कि किस तरह का सन स्क्रीन लोशन किस तरह लगाना चाहिए।

सन स्क्रीन पर लिखा एसपीएफ ही आपको बता देता है की यह लोशन आपको कितनी देर तक सूरज की किरणों से बचाएगा। जैसे अगर आप एसपीएफ 15 वाला सनस्क्रीन लगाते हैं तो सूरज की किरणे आपकी बॉडी को हानि पहुंचाने में 15 गुना अधिक समय लेगी। एसपीएफ 50 और उसके ऊपर की संख्या वाले सनस्क्रीन पर यह नियम लागू नहीं होता। इंडियन स्किन के हिसाब से 15 से 30 एसपीएफ वाला सनस्क्रीन बेहतर रहता है. हल्का सा सनस्क्रीन लगाने से काम नहीं चलेगा।

अक्सर लोग हाथों में थोड़ा सा सनस्क्रीन उढेल कर उसे लगा देते हैं जबकि आपको काफी अच्छी मात्रा में सनस्क्रीन लगाना चाहिए। इसकी मात्रा पेग के एक छोटे शॉट जितनी होनी चाहिए। धुप में जाने से 15 से 20 मिनट पहले ही आपको सनस्क्रीन लगा देना चाहिए। इसको शील्ड बनाने में इतनी देर तो लगती ही है. शरीर का जो भी हिस्सा खुला नुमाया हो रहा है वहां पर सनस्क्रीन जरूर लगाना चाहिए। हर दो घण्टे में वापिस से सनस्क्रीन लगा लेना चाहिए क्योंकि पसीने से इसकी काफी मात्रा उतर जाती है.

ये आदते पंहुचा सकती है नुकसान

बीमारियों का घर है एनर्जी ड्रिंक

बाहर खाते वक्त भी रखे हेल्थ का ख़याल

 

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App