'थोड़ी बहुत हिंदी तो आनी चाहिए..', कहने पर Zomato कर्मचारी और तमिल ग्राहक के बीच छिड़ा विवाद

चेन्नई: फूड डिलीवरी कंपनी Zomato एक बार फिर चर्चाओं में है. इस बार मामला हिंदी भाषा को लेकर है. चेन्नई के एक ग्राहक ने आरोप लगाया है कि कंपनी के एक कर्मचारी ने हिंदी भाषा को लेकर उसके साथ बहस की. कस्टमर ने इस बहस की चैट का स्क्रीनशॉट ट्विटर पर साझा कर दिया. जिसके बाद खुद जोमैटो ने सार्वजनिक रूप से माफी मांगी है. दरअसल, विकास नामक व्यक्ति ने Twitter पर Zomato के कर्मचारी के साथ अपनी बातचीत के स्क्रीनशॉट शेयर कर दिए. विकास को अपना ऑर्डर रिसीव करने में दिक्कत हो रही थी, जिसके लिए उसने कर्मचारी को रेस्तरां से संपर्क करने को कहा.

 

इस पर जोमैटो के कर्मचारी ने विकास को बताया कि उन्होंने रेस्तरां को पांच बार कॉल करने का प्रयास किया, किन्तु "भाषा की बाधा" की वजह से उनसे सही से बात नहीं हो सकी. इस पर विकास ने कहा कि अगर Zomato तमिलनाडु में सेवाएं दे रहा है, तो उसे भाषा को समझने के लिए एक तमिल भाषी व्यक्ति को जॉब पर रखना चाहिए. उसने जोमैटो कर्मचारी से पैसे रेस्तरां से रिफ़ंड करवाने को कहा. जवाब में कर्मचारी ने कहा कि, 'हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है. इसलिए यह बहुत सामान्य बात है कि हर किसी को थोड़ी-बहुत हिंदी आनी चाहिए.' उसने पैसे रिफ़ंड करने में असमर्थता जाहिर की. इसके बाद विकास ने कहा कि भाषा की दिक्कत मेरी परेशानी नहीं है. आप जल्द से जल्द पैसे रिफंड करिए. 

स्क्रीनशॉट में आप देख सकते हैं कि कैसे विकास की अपने ऑर्डर को लेकर जोमैटो के चैट सपोर्ट एक्जीक्यूटिव ग्राहक से बहस हुई. बहस का यह ट्वीट पोस्ट किए जाने के बाद सोशल मीडिया पर यह मामला वायरल हो गया. जैसे ही यह मामला सोशल मीडिया पर उछला Zomato ने खुद ट्वीट करते हुए माफी मांग ली. Zomato ने अपने ट्वीट में लिखा की, "वनक्कम विकास, हम अपने कस्टमर केयर एजेंट के व्यवहार के लिए माफ़ी चाहते हैं. इस घटना पर हमने आधिकारिक बयान दिया है. हमें उम्मीद है कि अगली दफा आप हमें अपनी बेहतर सेवा करने का मौका देंगे." 

ऐतिहासिक ऊंचाई पर पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आज का भाव

श्रीनगर 23 अक्टूबर से सीधी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें करेगा शुरू

अक्टूबर के पहले पखवाड़े में भारत का निर्यात 40.5 प्रतिशत बढ़ा

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -