अपने ही भाई की सरकार के खिलाफ YS शार्मिला का विरोध मार्च, आंध्र पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया
अपने ही भाई की सरकार के खिलाफ YS शार्मिला का विरोध मार्च, आंध्र पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया
Share:

गुंटूर: आंध्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी (APCC) की अध्यक्ष वाईएस शर्मिला रेड्डी ने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ अपने 'चलो सचिवालय' विरोध के तहत आंध्र रत्न भवन में राज्य सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। शर्मिला ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ राज्य में बेरोजगार युवाओं के लिए नौकरी के अवसर की मांग करते हुए हाथों में तख्तियां लेकर धरना दिया। इस बीच, किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए आंध्र रत्न भवन में बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया और 'चलो सचिवालय' विरोध से पहले कई कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया।

पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हल्की झड़प भी हुई क्योंकि 'चलो सचिवालय' मार्च के बाद कई कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। APCC के कार्यकारी अध्यक्ष शेख मस्तान वली को पुलिस ने उस समय हिरासत में ले लिया, जब उन्होंने पार्टी कैडर के साथ सचिवालय तक मार्च शुरू किया। आंध्र प्रदेश के AICC प्रभारी मनिकम टैगोर ने पुलिस के सख्त रवैये की आलोचना की। टैगोर ने एक्स पर लिखा कि, "विजयवाड़ा में जगन पुलिस द्वारा APCC के कार्यकारी अध्यक्ष मस्तान वली, पूर्व विधायक और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ दुर्व्यवहार से स्तब्ध हूं। जैसे ही वे AP में बेरोजगारी संकट के खिलाफ मार्च करने की तैयारी कर रहे थे, यह कठोर रवैया अस्वीकार्य है। विरोध एक लोकतांत्रिक अधिकार है।" 

विरोध प्रदर्शन का उद्देश्य राज्य में बेरोजगार युवाओं और छात्र समुदाय के लिए न्याय की मांग करना है। विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए वाईएस शर्मिला ने कहा कि, "एक अध्ययन के अनुसार बेरोजगारी के कारण 21,000 से अधिक लोग आत्महत्या कर चुके हैं। इस संकट को संबोधित करने के बजाय वाईएससीआरपी सरकार न्याय के लिए आंदोलन कर रहे कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को अलोकतांत्रिक तरीके से गिरफ्तार कर रही है।" 

इससे पहले, एक्स पर एक पोस्ट में, नवनिर्वाचित आंध्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, "हमारे चारों ओर हजारों पुलिसकर्मी लगाए गए थे। लोहे की बाड़ लगा दी गई है और हमें बंधक बना लिया गया है। अगर हम बेरोजगारों के पक्ष में खड़े होते हैं, तो वे हमें गिरफ्तार कर रहे हैं। आप तानाशाह हैं जो हमें रोकने की कोशिश कर रहे हैं। आपके कार्य इसका प्रमाण हैं। वाईसीपी सरकार को बेरोजगारों से माफी मांगनी चाहिए।" विरोध प्रदर्शन से एक दिन पहले वाईएस शर्मिला ने गिरफ्तारी से बचने के लिए पार्टी कार्यालय में रात बिताई।

आम जनता की तरह रेड सिग्नल पर रुके सीएम भजनलाल शर्मा, लोग बोले- ऐसा पहले कभी नहीं देखा

सुप्रीम कोर्ट परिसर में CJI चंद्रचूड़ ने किया 'आयुष केंद्र' का उद्घाटन, बोले- मैं भी 3:30 बजे उठकर योग करता हूँ..

'अल्लाह का आदेश है गजवा-ए-हिंद..', दारुल उलूम देवबंद ने खुलेआम किया ऐलान, जारी किया फतवा

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -