'आपने राम पर भी सवाल उठाए, हमारे लिए हमारा घोषणापत्र रामायण-गीता जैसा..', विधानसभा में बोले CM यादव- सभी योजनाएं जारी रहेंगी
'आपने राम पर भी सवाल उठाए, हमारे लिए हमारा घोषणापत्र रामायण-गीता जैसा..', विधानसभा में बोले CM यादव- सभी योजनाएं जारी रहेंगी
Share:

भोपाल: मध्य प्रदेश की 16वीं विधानसभा के चार दिवसीय पहले सत्र के अंतिम दिन गुरुवार को मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि भाजपा का घोषणापत्र रामायण और गीता जैसा है और आश्वासन दिया कि पिछली सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाएं जारी रहेंगी। वह लाडली बहना योजना पर नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार के सवाल का जवाब दे रहे थे।

यादव का यह बयान नवगठित विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण में महिला केंद्रित 'लाडली बहना' कार्यक्रम का जिक्र नहीं होने के एक दिन बाद आया है। राज्यपाल मंगूभाई पटेल का बुधवार को सदन को संबोधन के बाद वरिष्ठ भाजपा विधायक कैलाश विजयवर्गीय द्वारा लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव के जवाब में यादव ने कहा कि, "पिछली सरकार द्वारा चलाई जा रही 'लाडली लक्ष्मी' से लेकर अन्य सभी योजनाएं जारी रहेंगी और लाभार्थियों के खातों में तय तारीख पर धनराशि हस्तांतरित की जाएगी।" 

मोहन यादव ने आगे कहा कि, 'संकल्प पत्र (घोषणापत्र) हमारे लिए गीता और रामायण की तरह है और इसे पूरा किया जाएगा। कोई भी सरकारी योजना बंद नहीं की जायेगी। हमने उनके लिए धनराशि निर्धारित की है।' उन्होंने कहा कि 2000 साल पहले उज्जैन के राजा विक्रमादित्य ने अयोध्या जाकर राम मंदिर बनवाया था। उन्होंने कहा कि इसका जिक्र हाल ही में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था। उन्होंने आश्वासन दिया कि मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार 22 जनवरी को राम मंदिर उद्घाटन के लिए अयोध्या दौरे की सुविधा प्रदान करेगी।

यादव ने विपक्षी दल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस ने राम मंदिर के निर्माण में बाधाएं डालीं और भगवान राम के अस्तित्व पर भी सवाल उठाया। यादव ने कहा कि राज्य में भगवान कृष्ण से जुड़े स्थानों को तीर्थस्थल बनाया जाएगा। जब यादव भगवान राम और भगवान कृष्ण के बारे में बोल रहे थे, तो विपक्ष के नेता उमंग सिंघार ने कहा कि उन्हें मंदिर में उपदेश देना चाहिए और सीएम से मुद्दे पर आने और विपक्ष की चिंताओं पर बोलने को कहा। इस पर यादव ने कहा कि वह विपक्ष को जवाब देंगे।

यादव ने यह भी कहा कि दुनिया का मानक समय लगभग 300 साल पहले भारत द्वारा निर्धारित किया गया था, और इसके लिए एक उपकरण अभी भी उज्जैन में उपलब्ध था। उन्होंने कहा कि ग्रीनविच मीन टाइम (GMT) के अनुसार समय निर्धारित करने की प्रथा 50 वर्षों तक फ्रांसीसियों द्वारा और अब पिछले 250 वर्षों से ब्रिटिशों द्वारा चलायी जा रही है। कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह द्वारा मप्र के मुख्यमंत्री को राज्य में "भारतीय मानक" के अनुसार समय निर्धारित करने के सुझाव पर विपक्ष ने तुरंत हंसी उड़ाई। यादव ने कहा, ''यही मानसिकता है जिसने हमें पीछे रखा।''

यादव ने कहा कि उनकी सरकार भारत को उसका खोया हुआ गौरव वापस दिलाने में मदद करने के लिए काम करेगी। दिन का सूचीबद्ध कामकाज पूरा करने के बाद, अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर ने सदन को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया।

गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्ट होंगे फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, भारत सरकार ने दिया निमंत्रण - रिपोर्ट्स

'खड़गे को बनाया जाए PM उम्मीदवार..', INDIA मीटिंग में ममता ने रखा प्रस्ताव, डैमेज कंट्रोल में नितीश को राहुल का फोन

आज़ादी के बाद सबसे कम 'मॉब लिंचिंग' मोदी सरकार में हुई ..! गृह मंत्री अमित शाह ने सदन में दी जानकारी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -