योगिनी एकादशी के दिन जरूर पढ़े यह कथा

आषाढ़ मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को योगिनी एकादशी का व्रत रखा जाता है। जी हाँ और इस बार योगिनी एकादशी 24 जून 2022 को पड़ रही है। जी दरअसल ऐसा माना जाता है कि इस दिन व्रत रखने से 88 ब्राह्मणों को भोजन कराने जितना पुण्य प्राप्त होता है। आप सभी को बता दें कि योगिनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की खास पूजा-अर्चना की जाती है और ऐसा माना जाता है कि इस दिन व्रत करने से व्यक्ति के सभी पाप मिट जाते हैं। अब हम आपको बताते हैं योगिनी एकादशी का शुभ मुहूर्त और कथा।

योगिनी एकादशी शुभ मुहूर्त-

योगिनी एकादशी शुक्रवार, जून 24, 2022 को

एकादशी तिथि प्रारम्भ - जून 23, 2022 को रात 09 बजकर 41 मिनट पर शुरू

एकादशी तिथि समाप्त - जून 24, 2022 को रात 11बजकर 12 मिनट पर खत्म

पारण का समय- 25 जून सुबह 05 बजकर 51 मिनट से 8 बजकर 31 मिनट पर

योगिनी एकादशी व्रत कथा- प्राचीन काल में अलकापुरी नगर में राजा कुबेर के यहां हेम नामक एक माली रहता था। उसका कार्य रोजाना भगवान शंकर के पूजन के लिए मानसरोवर से फूल लाना था। एक दिन उसे अपनी पत्नी के साथ स्वछन्द विहार करने के लिए कारण फूल लाने में बहुत देर हो गई। वह दरबार में विलंब से पहुंचा। इस बात से क्रोधित होकर कुबेर ने उसे कोढ़ी होने का श्राप दे दिया। श्राप के प्रभाव से हेम माली इधर-उधर भटकता रहा और एक दिन दैवयोग से मार्कण्डेय ऋषि के आश्रम में जा पहुंचा। ऋषि ने अपने योग बल से उसके दुखी होने का कारण जान लिया। तब उन्होंने उसे योगिनी एकादशी का व्रत करने को कहा। व्रत के प्रभाव से हेम माली का कोढ़ समाप्त हो गया और उसे मोक्ष की प्राप्ति हुई।

इन चमत्कारी मन्त्रों से करें सूर्यदेव को प्रसन्न, ख़त्म होगी सारी समस्याएं

सोमवार को पूजा के दौरान पढ़े यह पाठ, खुश हो जाएंगे भोलेनाथ

बहुत चमत्कारी हैं गणेश जी के ये 12 नाम मंत्र, हर समस्या का होगा नाश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -