योगी ने कहा सूर्य नमस्कार और नमाज के आसन एक जैसे

लखनऊ : योगी आदित्यनाथ ने आज कुछ ऐसा कहा कि सब चौंक गए. वह बुधवार को योग महोत्सव के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल हुए जहा उन्होंने सभी को संबोधित कर कहा, जिस तरह से मुस्लिम भाई नमाज अदा करते हैं, उससे सूर्य नमस्कार के आसन मिलते हैं.

बता दे इस दौरान यहाँ बाबा रामदेव भी मौजूद थे. मुझे अमित शाह ने अचानक मुख्यमंत्री बनने को कहा, उस समय मेरे पास 1 जोड़ी कपड़े थे. उसी के साथ मैं दिल्ली चला गया. वह आगे बताते है कि मैंने उत्तरप्रदेश के हर कोने में यात्रा की है. उत्तरप्रदेश की सारी बीमारियों को जानता हूं. इसे जल्द ठीक करूंगा. हम बड़े निर्णय लेने में नहीं हिचकेंगे. हम 70 वर्षो में ऐसा कोई विश्वविद्यालय भारत को नहीं दे पाए है जिसका स्थान विश्व के शीर्ष 100 विश्वविद्यालय में हो. भारत को अराजकता से उबारने काम वर्ष 2014 से शुरू हुआ था, सकारात्मकता का परिणाम भारत की अर्थव्यवस्था में भी देखने को म‍िला है.

आगे वह कहते है, सूर्य नमस्कार, प्राणायाम की क्रियाएं कहीं ना कहीं नमाज पढ़ने की मुद्रा से मिलती-जुलती हैं. 2014 से पूर्व योग को सांप्रदायिक माना जाता था. जिन्हें भोग में विश्वास होगा वह योग में विश्वास कैसे कर सकते हैं. इससे पहले बाबा रामदेव ने कहा, उत्तरप्रदेश की प्रजा योगी, उत्तरप्रदेश का राजा भी योगी. योग एक वैज्ञानिक सत्य है. जानकारी दे दे कि लखनऊ के गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 29 से 31 मार्च तक योग महोत्सव चलेगा, इसमें बाबा रामदेव लोगों को योग के गुर सिखाएंगे.

ये भी पढ़े 

उत्तरप्रदेश में मुस्लिम डर में जी रहे - शाही इमाम

योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी पुलिसकर्मियों ने खुलेआम पी शराब

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पड़ोस में है भूत बंगला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -