महिला दिवस पर ये दिल छू लेने वाली शायरियां भेजकर बढ़ाए महिलाओं का सम्मान

नारी वह होती है जो अपनी ख्वाइशों का बलिदान कर देती है, वह अपनी हर इच्छा को मारकर अपने परिवार के साथ खड़ी रहती है और इसी नारी को सम्मान देने के 8 मार्च के दिन को  अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के तौर पर मनाया जाता है. यह दिन सभी के लिए बहुत खास होता है क्योकि महिलाएं दुनिया को आगे बढ़ने के लिए सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं. इस खास मौके पर हम आपको कुछ ऐसी शायरी बता रहे हैं जिसे आप सभी को भेजकर महिला दिवस विश कर सकते हैं. ये सभी शायरी महिला की ताकत यानी की नारी शक्ति को उजागर करती हैं.-

नारी दिवस बस एक दिवस,
क्यों नारी के नाम मनाना है.
हर दिन हर पल नारी उत्तम,
मानो , यह न्या ज़माना है.
महिला दिवस की बधाई.

जिसने बस त्याग ही त्याग किए,
जो बस दूसरों के लिए जिए.
फिर क्यों उसको धिक्कार दो,
उसे जीने का अधिकार दो.
महिला दिवस की शुभकामनाएं.

क्यों त्याग करे नारी केवल,
क्यों नर दिखलाए झूठा बल.
नारी जो जिद्द पर आ जाए,
अबला से चण्डी बन जाए.
उस पर न करो कोई अत्याचार,
तो सुखी रहेगा घर-परिवार.
महिला दिवस की हार्दिक बधाई.

मुस्कुराकर, दर्द भूलकर,
रिश्तों में बंद थी दुनिया सारी.
हर पग को रोशन करने वाली,
वो शक्ति है एक नारी.
महिला दिवस की शुभकामनाएं.

नर सम अधिकारिणी है नारी,
वो भी जीने की अधिकारी.
कुछ उसके भी अपने सपने,
क्यों रौंदें उन्हें उसके अपने.
Happy Womens डे.

नारी सीता नारी काली,
नारी ही प्रेम करने वाली.
नारी कोमल नारी कठोर,
नारी बिन नर का कहां छोर.
Happy Womens डे.

नारी ही शक्ति है नर की,
नारी ही है शोभा घर की.
जो उसे उचित सम्मान मिले,
घर में खुशियों के फूल खिलें.
महिला दिवस की हार्दिक बधाई.

आंचल में ममता लिए हुए,
नैनों से आंसु पिए हुए.
सौंप दे जो पूरा जीवन,
फिर क्यों आहत हो उसका मन.
महिला दिवस की हार्दिक बधाई.


बेटी-बहु कभी माँ बनकर,
सबके ही सुख-दुख को सहकर.
अपने सब फर्ज़ निभाती है,
तभी तो नारी कहलाती है.
Happy Womens डे.

शादी में अगर बारिश होती है तो ये होते हैं उसके संकेत

घर की शोभा बढ़ाता ये पौधा ले सकता है आपकी जान

क्या आप भी सोते हैं पेट के बल, जान लें इसके नुक़सान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -