महिला बाल विकास अधिकारी रिश्वत लेते गिरफ्तार

Apr 14 2015 12:34 AM
महिला बाल विकास अधिकारी रिश्वत लेते गिरफ्तार
style="font-family: sans-serif; font-size: 16px; line-height: 20.7999992370605px; text-align: justify; background-color: rgb(249, 249, 249);">मंदसौर/मध्य प्रदेश:  मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में लोकायुक्त पुलिस ने मंगलवार को महिला बाल विकास अधिकारी अंशुबाला मसीह को बतौर रिश्वत 50 हजार रुपये लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। उज्जैन लोकायुक्त के पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने आईएएनएस को बताया है कि मंदसौर की महिला बाल विकास अधिकारी अंशुबाला ने मध्याह्न् भोजन की आपूर्ति करने वाली राधा बाई से लंबित भुगतान के एवज में 70 हजार रुपये की रिश्वत मांगी थी। राधा बाई जब रिश्वत की पहली किस्त 50 हजार रुपये अंशुबाला को दे रही थी, तभी उसे गिरफ्तार कर रिश्वत की रकम बरामद कर ली गई। 
 
पुलिस मुताबिक अंशुबाला के खिलाफ भ्रष्टचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर उसे रिहा कर दिया गया।  राधा बाई ने बताया कि उसका वर्ष 2011 में मध्याह्न् भोजन की आपूर्ति करने का एक लाख 40 हजार रुपये लंबित थे। भुगतान के एवज में महिला बाल विकास अधिकारी अंशुबाला ने उससे 70 हजार रुपये की रिश्वत मांगी थी।
 
इधर, अंशुबाला का कहना है कि राधा बाई ने उनसे 50 हजार रुपये उधार लिए थे, जो वह देने आई थी। वह रिश्वत नहीं ले रही थी, किसी ने साजिश रचकर उन्हें फंसाया है। 
 
वहीं, लोकायुक्त की टीम के सदस्य निरीक्षक वसंत श्रीवास्तव ने संवाददाताओं को बताया कि राधा बाई ने उज्जैन के लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक से रिश्वत मांगने की शिकायत की थी, उसी आधार पर दबिश देकर अंशुबाला को पकड़ा गया।