जब महिला को पड़ोसी ने जिंदा कब्र में गाड़ा, तो फिर वो निकली ऐसे बाहर

यूक्रेन से हाल ही में एक दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है. 57 वर्षीय Nina Rudchenko ने बताया है कि उनके पड़ोसियों को कथित तौर पर शराब पीकर पहले उसने मारपीट की. फिर उन्हें जिंदा ही क्रब में गाड़ दिया.   नीना Maryanske में रहती हैं. उन्होंने इस बारें में बताया कि उनके पड़ोस में रहने वाले दो भाई शराब पीकर उनके घर में घूसे. पहले घर में तोड़फोड़ की. इसके बाद उन्होंने नीना को भी मारा. यहां तक कि इस मारपीट में उनका जबड़ा और नाक भी टूट गया. 

मिली जानकारी के मुताबिक, नीना ने बताया कि उनकी पिटाई बेसबॉल बैट से की गई. यहां तक कि दो घंटों तक उन्हें टॉर्चर भी किया गया. इसके बाद नीना बेहोश हो गई. इसके बाद वे दोनों रात को नीना को स्थानीय क्रबिस्तान ले गए. वहां पहले उन्होंने नीना के चेहरे पर पानी गिराया. उन्होंने नीना से कहा कि वह अपनी क्रब खुद खोदे और उसमें दफन हो जाए. नीना ने स्थानीय मीडिया को बताया, ‘मैं क्रब में गिर गई, वो मुझे दफनाने लग गए. मैंने अपना चेहरा ढक लिया ताकि थोड़ी हवा ले सकूं. वो दोनों हंस रहे थे और मेरे पूरे परिवार को खत्म करने का प्लान बना रहे थे. फिर वो दोनों चले गए, उन्होंने सोचा मैं मर गई. ’

जब वे दोनों चले गए तो नीना खुद अपनी क्रब से मिट्टी हटाकर बाहर निकली. वो घर पहुंची. यहां पहुंचते ही वो बेहोश हो गईं. नीना की बहन Ludmila Gura ने बताया कि नीना का पूरा चेहरा खून से भरा हुआ था. वो काला हो चुका है, सूज भी चुका था. कोई उसे पहचान नहीं सकता था. फिर उसे अस्पताल लेकर गए. मीडिया के मुतबिक, तुरंत नीना को स्थानीय अस्पताल लेकर गए जहां, उसकी हालत देखकर डॉक्टर्स भी दंग रह गए. Oleksandr Klymchuk, जो कि एक सर्जन हैं. उन्होंने बताया कि ब्रेन पर भी इसका असर हुआ है. यहां तक कि उसका जबड़ा और नाक पूरी तरह से टूट गई थी.  

लॉकडाउन में पड़ोसियों के साथ सोशल डिस्टन्सिंग बार का ये लोग ले रहे है मजा

लॉकडाउन के इस वक्त में बंदरों का गले मिलना लोगों को कर रहा है भावुक !

सीरिया की ये महिलाएं गरीबों के लिए रोज कर रही है ऐसा काम

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -