Share:
खुद को डॉक्टर बता कर महिला ने टोलकर्मी की जमकर कर दी पिटाई
खुद को डॉक्टर बता कर महिला ने टोलकर्मी की जमकर कर दी पिटाई

चंडीगढ़:  हरियाणा के अंबाला में शंभू टोल पर तैनात महिला कर्मी से खुद को डॉक्टर बताने वाली महिला ने मार मार कर हालत ख़राब कर दी। पीड़ित महिला की शिकायत पर सदर थाना पुलिस ने टोल की फुटेज तक खंगाल डाली। वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि टोल पर लाइन लगी हुई थी। एक महिला कार से उतरती है और टोलकर्मी महिला से बात कर रही थी। इतने में कार चालक महिला टोलकर्मी से मारपीट शुरू कर देती है।

दूसरे वीडियो में कार चालक महिला द्वारा टोलकर्मी महिला से पूरे स्टाफ के सामने माफी मंगवाते हुए दिखाई दे रही है। हालांकि, CCTV फुटेज में ऑडियो नहीं है। पुलिस ने दूसरे पक्ष को बुलाकर केस की गंभीरता से जांच शुरू की। महिला टोलकर्मी शालू ने शिकायत देते हुए कहा है कि दो दिसंबर को शंभू टोल बैरियर पर दो गाड़िया भी खड़ी हुई थी। धुंध के चलते मशीनरी धीमी होने से खिड़की पर खड़ी गाड़ी का टोल काटने में देरी हो रही थी। इतने में कार चालक महिला उतरकर नीचे आई और उसे पहले टोल से निकालने की बात बोलने लग गई। उसने बोला कि पहले आगे वाली गाड़ी निकल जाने दो।

इतने में तैश में आकर कार चालक महिला ने मारपीट करना शुरू कर दी है। शालू का इल्जाम है कि हमलावर महिला खुद को एक निजी अस्पताल की डॉक्टर भी बोल रही थी। आरोपी ने गला घोटने का भी प्रयास किया। दोनों बाजू पकड़ कर घुमा दी। ऐसे में उसे एक बाजू पर चोटें  आ गई। अन्य स्टाफ ने बीचबचाव किया लेकिन कार चालक यहां तक आकर शांत नहीं हुई। फिर उसने टोल के मुख्य कमरे में आकर जबरन समस्त स्टाफ के सामने उससे व पूरे स्टाफ से भी मांगी मंगवाई और घटनास्थल से चली गई से चली गई। जबरदस्ती उससे रिजाइन भी लिखवाया। जाते वक्त हमलावर महिला उसका आधार कार्ड अपने साथ लेकर चली गई। बता दें कि 

महिला टोलकर्मी की तरफ से शिकायत हासिल हुई। मामले की गंभीरता से कार्रवाई करते हुए दूसरे पक्ष को बुलाया गया है। CCTV फुटेज तो मिली है लेकिन उसमें ऑडियो नहीं है। दूसरे पक्ष के आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकती है। जो भी दोषी पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जिस पति पर बलात्कार-अप्राकृतिक यौनाचार का आरोप, वह खुद ही पहुंचा थाने, पुलिस मांग रही ढाई करोड़..

दलित लड़की का किडनैप और रेप, जबरन खिलाया गौमांस ! शोएब, नजमा खान, आकिब, रेशमा पर FIR दर्ज

पिछले 60 सालों में सबसे शांत रहा 2022, दंगों पर NCRB ने जारी किए आंकड़े, जानिए कहाँ बढ़े- कहाँ घटे

रिलेटेड टॉपिक्स
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -