इम्यून सिस्टम ही नहीं आंत को भी रखे तंदरुस्त, डाइट में शामिल करें यह चीजें

कोरोना वायरस (Corona virus) का कहर अब भी छाया हुआ है। ऐसे में तीसरी लहर में संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। आप सभी को बता दें कि संक्रमित होना, कमजोर प्रतिरक्षा / इम्यूनिटी (Weak immunity) का परिणाम होता है। ऐसे में एक्सपर्ट के मुताबिक, इम्यून सिस्टम यानी प्रतिरक्षा प्रणाली विशेष रूप से आंत बैक्टीरिया (Gut bacteria) से भी जुड़ी हुई होती है। वहीं स्वस्थ शरीर को बढ़ावा देने के लिए आंत और प्रतिरक्षा प्रणाली एक दूसरे का समर्थन करते हैं। इस वजह से इम्यूनिटी मजबूत होने के लिए शरीर की आंतों का भी स्वस्थ रहना काफी जरूरी है और हम आज ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आंतों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं।

आंतों की सेहत को बढ़ावा देने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं- किण्वित खाद्य पदार्थ (Fermentation food) आंत को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाते हैं। जी हाँ और यह फूड प्रोबायोटिक्स और आंतों के लिए अनुकूल रहने वाले बैक्टीरिया में काफी समृद्ध होते हैं, जो कि आंतों की सेहत को बढ़ावा देते हैं। इसी के साथ किण्वित खाद्य पदार्थ इम्यूनिटी मजबूत करते हैं, पाचन सही करते हैं, लैक्टोज असहिष्णुता के लक्षण कम कर सकते हैं, लिवर की बीमारी रोक सकते हैं, गठिया की बीमारी में मदद कर सकते हैं, मधुमेह के लक्षणों में सुधार कर सकते हैं, आदि।  इस वजह से आंत को स्वस्थ रखने के लिए किण्वित खाद्य पदार्थ का सेवन करना काफी अच्छा माना जाता है।

पनीर (Paneer)- पनीर को दूध से बनाया जाता है, और यह बहुत अच्छा किण्वित फूड है। ऐसे में पनीर प्रोटीन में भी काफी हाई होता है, और इसे खाने से प्रोटीन की कमी पूरी हो सकती है।

दही (Yoghurt)- पोषण विशेषज्ञ इस बात से सहमत हैं, कि बैक्टीरिया भी आंत की गतिविधि में सुधार करते हैं। इस वजह से बाजार में कई किण्वित ड्रिंक्स और उत्पाद सुपर फूड मार्केट में मिल रहे हैं, जिनका सेवन रोजाना करना चाहिए। इसी के साथ दही भी ऐसा ही किण्वित उत्पाद है। कहा जाता है हर दिन भोजन के साथ 1 कटोरी दही का सेवन करना चाहिए।
    
डोसा और इडली (Dosa and Idli)- जी दरअसल चावल और दाल के घोल को किण्वित करके बनाया जाता है। जी हाँ और यह अच्छा फूड है, जो कि विभिन्न न्यूट्रिशन से भरपूर होता है। आपको बता दें कि किण्वन वाली इडली खाने के लिए रेडी-टू-मिक्स पैकेट का इस्तेमाल न करें। इसे खाने से भी इम्यूनिटी मजबूत होती है।

ढोकला (Dhokla)- ढोकला एक पारंपरिक किण्वित फूड है, जो कि गुजराती व्यंजन है। इसे चने की दाल या बेसन से बनाया जाता है। इसे बनाने के पहले इसमें भी खमीर उठाया जाता है और उसके बाद इसे बनाते हैं। इसे खाने से भी इम्यूनिटी मजबूत होती है।

कोम्बुचा या किण्वित चाय (Kombucha or fermented tea)- कोम्बुचा एक चाय है, जिसे हरी या काली चाय में वैक्टीरिया, यीस्ट और चीनी को मिलाकर बनाया जाता है। जी हाँ और यह स्वाद में मीठी होती है, जो पाचन में सुधार करती है, ब्लड शुगर को कंट्रोल करती है और आंत की सेहत को भी सुधारती है।

ओमीक्रॉन से जल्द रिकवर होने के लिए अपनी डाइट में शामिल करें यह 4 चीजें

यूनिसेफ का कहना है कि पूर्ण या आंशिक स्कूल बंद होने से 635 मिलियन छात्र प्रभावित हैं

केरल के स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड के बारे में झूठी खबरों का खंडन किया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -