किस सवाल ने येदुरप्पा को भरी अदालत में रुला दियाः अवैध खनन घोटाला

बेंगलुरु : घोटाले के मामले में सीबीआई ने एक के बाद एक कुल 475 सवाल पूछ दिए, जिससे बीजेपी नेता बी एस येदुरप्पा की आंखों में आंसू आ गए। बीजेपी की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष येदुरप्पा से ये सवाल उनके मुख्यमंत्री काल में हुए कथित अवैध खनन घोटाले के मामले में पूछे गए।

सीबीआई अदालत ने येदुरप्पा को उनके परिवार द्वारा संचालित ट्रस्ट को मिले 20 करोड़ रुपए के चंदे के बारे में जानने के लिए बुलाया था। सुनवाई करीबन ढाई घंटे तक चली, इस दौरान न्यायधीश ने उनसे कुल 475 प्रश्न पूछे। लेकिन एक प्रश्न ने उन्हें रुला दिया। जब जज ने उनसे पूछा कि क्या उन्हें अपनी ओर से इस मामले में कुछ कहना है।

इस पर भावुक होकर येदुरप्पा ने कहा कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया, जो कुछ भी किया वो कानून के दायरे में किया। उनके द्वारा किए काम से सरकारी खजाने को कोई नुकसान नहीं हुआ। इस सवाल से पहले भी येदियुरप्पा का गला रुंध गया था, जब उनसे पूछा गया कि क्या वह राजनीतिक साजिश के शिकार हैं।

इसका जवाब देते हुए येदियुरप्पा भावुक हो गए और उनकी आवाज भारी हो गई। येदुरप्पा हाल ही में बीजेपी के कर्नाटक प्रमुख बने है। उन्हीं के नेतृत्व में बीजेपी 2008 में पहली बार कर्नाटक की सत्ता में आ पाई। जुलाई 2011 में अवैध खनन पर लोकायुक्त संतोष हेगड़े द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में येदियुरप्पा को दोषारोपित किए जाने के बाद उन्हें मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

इस रिपोर्ट में वेस्ट माइनिंग कंपनी से प्रेरणा ट्रस्ट को 10 करोड़ रुपए मिलने और खनन कंपनी द्वारा राचेनहल्ली में 1.02 एकड़ जमीन खरीदने के बदले में ट्रस्ट को 20 करोड़ देने का आरोप लगाया गया था। इस ट्रस्ट का स्वामित्व येदुरप्पा और उनके परिवार के पास है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -