क्या है FLiRT? जानिए इसके लक्षण
क्या है FLiRT? जानिए इसके लक्षण
Share:

कोरोना का एक नया वैरिएंट देश में एंट्री कर चुका है तथा तेजी से फैल रहा है. भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में अब तक कोरोना के 324 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें केपी.2 के 290 मामले एवं केपी.1 के 34 मामले सम्मिलित हैं. कोरोनावायरस के दो नए सब-वैरिएंट KP.2 और KP.1 को 'FLiRT' नाम दिया गया है. 'FLiRT' ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट्स का एक ग्रुप है तथा ये दोनों इस ग्रुप के अंदर ही आते हैं. KP.1 और KP.2 को 'FLiRT' उपनाम वैज्ञानिकों ने उनके म्यूटेशन के तकनीकी नाम के आधार पर दिया है. FLiRT में सम्मिलित KP.2 एवं KP.1, ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट JN.1 के वंशज हैं जिसने बीते वर्ष बहुत तबाही मचाई थी. ऐसे में आइये आपको बताते है यह वैरिएंट क्या है और इसके लक्षण क्या हैं, इस बारे में जान लीजिए

क्या है FLiRT?
FLiRT में दो प्रमुख वैरिएंट, KP.2 और KP.1 सम्मिलित हैं जो JN.1 (ओमिक्रॉन की शाखा) के सब-वैरिएंट हैं. इनमें 2 नए स्पाइक म्यूटेशन हैं. KP.2 (JN.1.11.1.2) वैरिएंट JN.1 का वंशज है, जिसमें S:R346T और S:F456L दोनों मौजूद हैं. जापान के रिसर्चर्स की स्टडी के अनुसार, KP.2 की संक्रामकता JN.1 की तुलना में बहुत (10.5 गुना) कम है. KP.2 तेजी से फैल रहा है, अनुमान है कि KP.1 वर्तमान में अमेरिका में तकरीबन 7.5 प्रतिशत नए कोविड मामलों के लिए जिम्मेदार है. जब दोनों (KP.2 और KP.1) साथ में होते हैं तो यह और भी आक्रामक हो जाते हैं. KP.2 (जिसे JN.1.11.1.2 भी कहा जाता है) को JN.1 की तीसरी पीढ़ी माना जा रहा है जिसे बीते वर्ष दिसंबर में वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट के रूप में देखा गया था. मई 2024 तक वैश्विक स्तर पर फैलने वाले मुख्य वैरिएंट KP.2, JN.1 और KP.1 ही हैं. 

कितना खतरनाक है FLiRT?
नेशनल इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के को-चेयरमेन राजीव जयदेवन (Rajeev Jayadevan) ने बताया, 'कोरोना समाप्त होने वाली बीमारी नहीं है. यह किसी न किसी रूप में सामने आती रहेगी, भले ही यह बुखार, मलेरिया या अन्य रूप में सामने आए. ऐसा प्रतीत होता है कि ये वैरिएंट अपने पूर्वज एवं अन्य ओमिक्रॉन वैरिएंट से आगे निकल गए हैं. कहा जाता है कि KP.2, विशेष रूप से दोनों में से ज्यादा प्रभावशाली स्ट्रेन है जो वैक्सीनेशन एवं बीते संक्रमण से बनी इम्यूनिटी को भी चकमा दे सकता है.'

वेटरन्स अफेयर्स सेंट लुइस हेल्थकेयर सिस्टम के रिसर्च और डेवलपमेंट के हेड डॉ. जियाद अल-अली ने  बताया, 'मैं यह नहीं कहना चाहता कि हम KP.2 के बारे में पहले से ही सब कुछ जानते हैं. मुझे फिलहाल कोई खतरे का संकेत नहीं नजर आ रहा है.' कोलंबिया यूनिवर्सिटी के वायरोलॉजिस्ट डॉ. डेविड हो के अनुसार, 'KP.2 उन लोगों को भी संक्रमित कर सकता है जिन्होंने नई वैक्सीन भी लगवाई है. जापान के रिसर्चर्स के शोध में पाया गया है कि जेएन.1 की तुलना में KP.2 में ज्यादा क्षमता है कि वह नई वैक्सीन लेने वाले लोगों को भी संक्रमित कर सकता है.'

FLiRT के लक्षण क्या हैं?
'FLiRT के लक्षण तकरीबन अन्य वैरिएंट के समान ही हैं जिनमें गले में खराश, खांसी, थकान, मसल्स में दर्द, बुखार, ठंड लगना एवं स्वाद या गंध की कमी सम्मिलित हैं. लक्षण अलग-अलग होने की वजह यह है कि FliRT KP.2 और JN.1 वैरिएंट से मिलकर बने हैं जिसमें कई म्यूटेशन होते हैं जो इम्यूनिटी को चकमा दे सकते हैं.'

भारतीयों को चिंता करने की जरूरत है?
एक्सपर्ट्स के अनुसार, 'भारत को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि हमारी इम्यूनिटी डेवलप हो चुकी है और अभी तक किसी भी नई वैक्सीन लगाने की सिफारिश की गई है. रिसर्टर्स अभी FLiRT वैरिएंट के बारे में और रिसर्च कर रहे हैं तथा इस सवाल का पता लगा रहे हैं कि क्या नया स्ट्रेन गंभीर बीमारियों का कारण बनेगा?' 

फेसबुक वाले Lover ने दिया लड़की को ऐसा धोखा, दुल्हन के जोड़े में करती रह गई इंतजार

गिरफ्तार हुआ दिल्ली मेट्रो में केजरीवाल पर धमकी भरे मैसेज लिखने वाला युवक

'बेटी ने हड़पे 78 वर्षीय मां के सारे पैसे, घर से निकाला', अब कोर्ट ने सुनाया ये फैसला

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -