Share:
तलाक कानून क्या है..?
तलाक कानून क्या है..?

विवाह विच्छेद विधियों की दुनिया में कई अद्वितीय और अजीब नियम हैं। यहां हम आपको विभिन्न देशों से 5 अजीब विवाह विच्छेद कानूनों के बारे में बताएँगे:

फिलीपींस: फिलीपींस में, अगर आपके साथी ने शादी के दौरान आपके साथ "संगीत" की अनुमति नहीं दी है, तो आप उन्हें तलाक दे सकते हैं। इस विचारधारा के अनुसार, अगर आपके पार्टनर ने आपकी गायन क्षमता की अनुमति नहीं दी है, तो यह विवाह की असमानता है और तलाक की एक वैध वजह हो सकती है।

यमन: यमन में, एक पति अपनी पत्नी को तीन बार "टला" देकर तलाक दे सकता है। यहां परंपरागत तलाक के तरीके में शामिल है, जहां पति को तलाक देने के लिए सिर्फ तीन शब्द की आवश्यकता होती है।

फ्रांस: फ्रांस में, यदि एक व्यक्ति ने अपने साथी को शारीरिक रूप से धक्का दिया है और उनका राजनीतिक या सामाजिक मानहानि हुआ है, तो वे तलाक के लिए आवेदन कर सकते हैं। यह अनोखा कानून वार्ता को शारीरिक अत्याचार के रूप में मान्यता देता है और तलाक की एक मान्य कारण हो सकता है।

फिजी: फिजी में, एक व्यक्ति अपने साथी के साथ तीन साल तक रहने के बाद ही तलाक दे सकता है। यह कानून इस विचार के पीछे है कि तीन साल की अवधि में जोड़ी को परस्पर अनुभव करने का पूर्ण समय मिलता है और तलाक देने का फैसला समय के आधार पर सही और विचारशील होगा।

सऊदी अरब: सऊदी अरब में, एक पुरुष अपनी पत्नी को तलाक देने के लिए सिर्फ तीन शब्द बोल सकता हैं। वे तीन बार "मैं तुझे तलाक देता हूँ" (तलाक, तलाक, तलाक) कह सकते हैं और तलाक हो जाती है। यह तरीका तलाक को सरल और त्वरित बनाता है, लेकिन इसकी सामाजिक और मानसिक प्रभाव बहुत अधिक हो सकता है।

विवाह विच्छेद कानून एक महत्वपूर्ण विषय है जो विवाहित जोड़ी के विच्छेद और संबंधों को नियंत्रित करता है। यहां हम आपको विवाह विच्छेद कानून के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में विस्तार से बताएँगे:

विवाह विच्छेद के प्रकार: विवाह विच्छेद के कई प्रकार हो सकते हैं जैसे कि साधारण विवाह विच्छेद, अविवाहित सम्बन्ध, संगठित विवाह विच्छेद, और धार्मिक विवाह विच्छेद। इन प्रकारों में कानूनी प्रक्रिया और अधिकारिक प्रक्रिया की भिन्नताएँ हो सकती हैं।

विवाह विच्छेद के कानूनी प्रक्रिया: विवाह विच्छेद कानूनी प्रक्रिया एक नियमित और संरचित प्रक्रिया है जिसके अनुसार विवाहित जोड़ी विच्छेद के लिए आवेदन कर सकती है। इसमें न्यायालयीन प्रक्रिया, अदालती निर्णय, और विवाह विच्छेद प्रमाणपत्र की प्राप्ति शामिल हो सकती है।

विवाह विच्छेद के मानदंड: विवाह विच्छेद के लिए विभिन्न देशों में मानदंड निर्धारित किए गए हैं। यह मानदंड शादी के अवधि, विवाहित जोड़ी के संबंधों की विफलता, और अन्य प्रामाणिक और सामाजिक मामलों को ध्यान में रखते हुए तय किए जाते हैं।

संपत्ति विभाजन: विवाह विच्छेद के समय संपत्ति का विभाजन एक महत्वपूर्ण मुद्दा हो सकता है। कानूनी मामलों में संपत्ति के विभाजन के नियम और प्रक्रिया निर्धारित की जाती है जिसके अनुसार संपत्ति को न्यायिक रूप से बांटा जाता है।

अलगाव की प्रक्रिया के प्रभाव: विवाह विच्छेद की प्रक्रिया में संलग्नता और परिवारिक मामलों पर भी प्रभाव पड़ता है। बच्चों की होष्टिंग, आर्थिक और मानसिक तनाव, और सामाजिक संबंधों में परिवर्तन हो सकता है जो विवाह विच्छेद की प्रक्रिया के परिणामस्वरूप हो सकता है।

विवाह विच्छेद कानून का मुद्दा गंभीरता से लिया जाना चाहिए, और इसमें संबंधित देशों के कानून की पूरी जानकारी और नियमों की पालन करनी चाहिए। यह सुनिश्चित करें कि आप विवाह विच्छेद से संबंधित नियमों और प्रक्रियाओं को समझते हैं और किसी विधिक परामर्शक से संपर्क करें, यदि आपको इस विषय में संदेह हो।

तलाक किसी विवाहित जोड़ी के विच्छेद को मान्यता देने की एक नियमित प्रक्रिया है। इसके लिए कुछ शर्तों की पूर्ति की जानी चाहिए। यहां कुछ ऐसी सामान्य शर्तें हैं जिनके अंतर्गत तलाक मान्य हो सकता है:

एकतरफा तलाक: यदि एक पति या पत्नी द्वारा तलाक का एकतरफा फैसला लिया जाता है और उन्होंने तलाक की इच्छा जताई है, तो ऐसी स्थिति में तलाक मान्य हो सकता है।

शारीरिक या मानसिक अत्याचार: यदि विवाहित जोड़ी के बीच शारीरिक या मानसिक अत्याचार की घटना होती है, जो जीवन को असहनीय बना देती है, तो ऐसे मामलों में तलाक मान्य हो सकता है।

असहमति या अनुपयोगीता: यदि विवाहित जोड़ी के बीच में असहमति या अनुपयोगीता होती है, जिसके कारण उनके बीच की जीवनसंगति प्रभावित होती है, तो ऐसे मामलों में तलाक का प्रस्ताव किया जा सकता है।

विशेष कानूनी शर्तें: कुछ देशों में तलाक के लिए विशेष कानूनी शर्तें हो सकती हैं, जैसे कि विवाहित जोड़ी के एक मिनिमम अवधि की पूर्ति या बच्चों के हितों की संरक्षा। इन शर्तों के पूर्ण होने के बाद तलाक मान्य हो सकता है।

'उसे बलि का बकरा क्यों बनाया..', टीम इंडिया के सिलेक्शन पर भड़के सुनील गावस्कर

जूनियर महिला हॉकी वर्ल्ड कप में इस टीम से होगा भारत का पहला मैच

WTT Contender: मनिका-साथियन की जोड़ी ने सेमीफाइनल में बनाया स्थान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -