भटकते मन को कुछ इस तरह करें नियंत्रण

मानव का मन हर पल एक नया रूप -रंग सा बदलता रहता है. इस मन में इतनी चंचलता होती है. जो हर पल यहाँ- वहां भटकता रहता है .मन ही एक ऐसा है. जिसके द्वारा मानव खुश रह सकता है .मन की प्रशन्नता से ही उसके जीवन में उन्नति होती है. और यदि जिसका मन भटकता रहता है या मन उदास है, तो उसका जीवन नीरस सा हो जाता है. उसके इस मन के कारण ही उसे जीवन-जीने की कोई इक्च्छा ही नहीं रह जाती है .

मन की स्थिरता और प्रशन्नता ही मानव को प्रगतिशील बनाती है . आपके मन में शांति होना अतिआवश्यक है .क्योंकि यदि मन में शांति नहीं है. तो आप सफलता पाने के बाद भी आपका मन यहां - वहां भटकता रहता है . प्रत्येक व्यक्ति सहज और शांत मन से एक अच्छा जीवन व्यतीत कर सकता हैं। यदि आपके मन में स्थिरता नहीं है , मन यहां - वंहा भटक रहा है. तो उसकी स्थिरता  के लिए कुछ छोटे कदम मददगार साबित हो सकते हैं।

यदि मन स्थिर न हो कुछ समय अकेले रहें- 

आप किसी एकांत स्थान पर जाकर जहाँ का वातावरण बिलकुल शांत हो वहां बैठें और अपने बारे में सोचें। अपनी जिंदगी, अपने जीवन की क्रिया- कलापों , अपनी इच्छाओं और अपनी भावनाओं को लेकर विचार करें। इससे आपको एक सही दिशा चुनने की मदत मिलेगी।

आप अपने गुणों और दोषों पर करें विचार- 

आपको चाहिए की आप अपने मन के भावों को सही रखें अपनी सोच को सकारात्मक रखें अपने गुणों का विस्तार करने की दिशा में सोचें और अपने अंदर की कमियों को सुधारने की तरफ ध्यान दें। 

नई चीजों के साथ जुड़ें का प्रयास - 

आपको चाहिए की आप अपने आपको नई गतिविधियों और नई संस्कृति में ढालने का प्रयास करें। इससे आप अपने जीवन में अपनी कमी से उभर पायेगें और जीवन को एक नै दिशा से जोड़ पायेगें . 

मन की एकाग्रता के लिए ध्यान की मदद लें- 

आप इस बात से अवगत ही होंगे की मन की एकाग्रता के लिए ध्यान एक सबसे अच्छा साधन है जो व्यक्ति को मानसिक और शारीरिक स्वास्थ में मदत करता है . ध्यान में वो शक्ति है जो मानव की मानसिक क्रियाओं को गति प्रदान करता है और उसके मन में स्थिरता और सद विचारों का प्रकाश डालता है आपको आंतरिक शांति और अपने बारे में जानने में मदद करता है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -