रात में इस समय नींद खुलना देता है खतरनाक संकेत, जानिए यहाँ

आज के समय में लोगों का जीवन बड़ा व्यस्त हो गया है, ऐसे में नींद न आना या रात में बार-बार नींद खुलने की समस्या से हर कोई ग्रसित है। वैसे तो लोग इसके पीछे तनाव समेत कई तरह के मानसिक-शारीरिक कारण को जिम्‍मेदार मानते हैं लेकिन इसके पीछे एक कारण और भी हो सकता है, जिसकी अधिकांश लोग अनदेखी कर देते हैं। यह कारण धर्म-शास्‍त्रों से जुड़ा है। जी दरअसल धर्म-शास्त्रों में रात में बार-बार खुलने वाली नींद या एक ही समय पर रोज नींद खुलने के पीछे का रहस्‍य बताया है। अब आज हम आपको इन्ही के बारे में बताने जा रहे हैं।

रात 9 से 11 बजे के बीच नींद खुलना: कहा जाता है अगर हर रात को 9 से 11 बजे के बीच नींद खुले तो इसके पीछे आपके मन में चल रही कोई चिंता है। ऐसे में बेहतर होगा कि रात में सोने से पहले चेहरे को ठंडे या सामान्‍य पानी से धोएं और किसी मंत्र का जाप करके सोएं। 

रात 11 से 1 बजे के बीच नींद खुलना: कहा जाता है अगर हर दिन आंख रात में 11 से 1 बजे के बीच में खुल रही हो तो यह आपके मन के भटकाव का संकेत है। ऐसे में बेहतर होगा कि सोने से पहले निगेटिव न सोचें। सकारात्‍मकता के लिए कुछ सुनें या पढ़ें। 

रात 12 से 2 के बीच नींद खुलना: हर रात को 12 बजे से 2 बजे के बीच नींद का खुलना किसी अनजान शक्ति के आपके आसपास होने का इशारा है। जी हाँ और यह शक्ति आपको जीवन के उद्देश्यों के प्रति जागरूक करती है।

रात 1 से 2:00 बजे के बीच नींद खुलना: इस दौरान नींद खुलना आपके तेज गुस्‍से का प्रतीक है। ऐसे में बेहतर होगा कि अपने गुस्‍से पर नियंत्रण रखें और इस समस्‍या से निजात पाने के लिए सोने से पहले हाथ-पैर धोएं और ठंडा पानी पिएं। 

रात 3 बजे के करीब नींद खुलना: कहा जाता है यह संकेत है कि यूनिवर्स और दिव्यशक्ति चाहती है कि आप उठें और अपने इष्टदेव की आराधना करें। इसी के साथ परमात्मा का जाप करें क्योंकि बहुत सारी शक्तियां आपका इंतजार कर रही हैं जो कि आपको मिलनी आने वाले समय में मिलने वाली हैं।

रात 3 बजे से सुबह 5 बजे के बीच नींद खुलना: इसका मतलब है कि कोई अनजान शक्ति आपसे संपर्क करने की कोशिश कर रही है। ऐसे में इस समय में नींद खुले तो ईश्‍वर का नाम लें।


सुबह 5 से 7 बजे के बीच नींद खुलना: ऐसे समय में नींद खुलना इमोशनल तौर पर कमजोर होने का इशारा देती है।

श्राप के चलते महिलाओं को होती है माहवारी लेकिन मिला है ये वरदान

लहसुन और प्याज, जानिए क्यों हैं पूजा में वर्जित?

जल्द शुरू होने वाला है फरवरी का महीना, यहाँ देख लीजिये त्योहारों की लिस्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -