लिवर की बीमारियों में कारगर है विटामिन ए

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत सी चीजों की जरुरत पड़ती है और विटामिन भी हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा आवश्यक है. हर विटामिन की अपनी खासियत होती है और हर विटामिन के अलग प्रभाव होते हैं. विटामिन ए भी ऐसा विटामिन है जिसके बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ है. विटामिन ए एक एंटीऑक्सीडेंट है. एंटी ऑक्सीडेंट्स वह पदार्थ होते हैं, जो कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्स के हानिकारक प्रभावों से बचाते हैं. विटामिन ए हमारी त्वचा, बाल, नाखूनों आदि के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता हैं. विटामिन ए वसा में घुलनशील विटामिन है. विटामिन ए आमतौर पर रेटिनॉयड और कैरोटिनॉयड दो रूपों में पाए जाने वाला विटामिन हैं.

विटामिन ए की कमी के कारण तो अनेक समस्याएं होती ही हैं साथ ही इसकी अधिकता के कारण भी अनेक समस्याएं होने लगती हैं इसलिए जरूरत से ज्यादा मात्रा में इसके सेवन से बचना चाहिए। लिवर की बीमारियों, सिस्टिक फाइब्रोसिस आदि से पीड़ित लोगों को भी विटामिन ए की आवश्यकता होती है। बच्चों में विटामिन ए की कमी के कारण पाचन मार्ग और श्वसन मार्ग के ऊपरी भाग में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है. इसकी कमी से जहाँ हमें साइनस, क्रोनिक डायरिया, निमोनिया और रतौंधी जैसी बीमारियां होती है वहीँ इस विटामिन की अधिकता से बाल गिरना,थकान, त्वचा की समस्याओं से दो चार होना पड़ता है. सी फूड, कॉड लीवर ऑयल,लाल मिर्च,पनीर,साबुत अनाज,पपीता, आम, पत्तागोभी, गाजर, पालक, शकरकंद, कद्दू, डेरी प्रोडक्ट,टमाटर,अंडा आदि विटामिन ए के प्रमुख स्त्रोत होते हैं.

स्किन के लिए फायदेमंद है विटामिन सी

आँवला है विटामिन सी का बेहतरीन स्रोत

नवजात बच्चे के लिए बहुत जरूरी है विटामिन डी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -