लॉकडाउन में फ़रिश्ते बनकर आई पुलिस, लेबर पेन से तड़प रही महिला की ऐसे की मदद

लखनऊ : कोरोना महामारी के इस संकट के समय में यूपी पुलिस देवदूत बनकर आम लोगों की सहायता कर रही है. ताजा मामला ग्रेटर नोएडा के कासना बस स्टैंड के समीप का है. जहां लॉकडाउन के कारण सड़कें सूनी पड़ी हैं, कोई वाहन भी नहीं चल रहा है. इसी दौरान गोरखपुर की रीता नाम की महिला को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी.

वह दिल्ली के मंगोलपुरी में अपनी बहन के पास जाना चाहती थी. लेकिन कोई साधन न होने पर पुलिस ने रीता की मदद करते हुए प्राइवेट वाहन से एक महिला आरक्षी के साथ दिल्ली उनकी बहन के यहां भिजवाने में सहायता की.  इसके पहले ग्रेटर नोएडा में पुलिस ने अकेले रहने वाली एक बुजुर्ग महिला के घर में स्वयं जाकर दवाइयां दी थी. लॉकडाउन के दौरान किसी आम नागरिक को भी घर से निकलने की इजाजत  नहीं है. बुजुर्ग महिला शारदा देवी ग्रेटर नोएडा में सेक्टर बीटा 2 के मकान नंबर 506 में रहती हैं. इनका पुत्र दिल्ली में रहता है. शारदा देवी की दवाइयां खत्म हो चुकी थीं और उनका बेटा दिल्ली से घर आकर उन्हें दवाइयां मुहैया नहीं करा सकता था.

ऐसे में शारदा देवी के बेटे ने नोएडा के DCP राजेश कुमार सिंह को फोन किया और बताया कि ग्रेटर नोएडा में रह रही उनकी मां की दवाइयां खत्म हो गई हैं, वो बीमार हैं. उन्हें तुरंत दवाइयों की आवश्यकता है. इसके बाद DCP राजेश कुमार सिंह ने तत्काल बुजुर्ग महिला शारदा देवी के घर दवाइयां पहुंचाने के लिए ग्रेटर नोएडा के सेक्टर बीटा-2 के SHO को निर्देश दिए. और महिला को घर बैठे दवाइयां मिल गईं

कोरोना से जंग के लिए आगे आई सन फार्मा कंपनी, दान करेगी 25 करोड़ की दवाएं व सैनिटाइजर

टोल ऑपरेटर्स को मिला बड़ा निर्देश, न जाए कोई प्रवासी मजदूर भूखा

BSF : चौबीसों घंटे मुस्तैद सेना के जवान, लॉकडाउन में सुरक्षित देश की सीमा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -