उत्तर प्रदेश: रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों धराया बिजली विभाग का आलाधिकारी

उत्तर प्रदेश: रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों धराया बिजली विभाग का आलाधिकारी

इटावा: उत्तरप्रदेश के इटावा में भ्रष्टाचार रोधी टीम ने बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर (जेई) को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है. बिजली कनेक्शन के नाम पर जेई ने शिकायतकर्ता से रिश्वत के तौर पर 35 हजार रुपए की मांग की थी, पैसे न होने पर शिकायतकर्ता ने कानपुर एंटी करप्शन टीम से इस बात की शिकायत दर्ज कराइ. शिकायत प्राप्त होने पर एंटी करप्शन की टीम ने इटावा आकर जेई को 27 हजार रुपए की घूस लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है. एंटी करप्शन टीम पिछले दो दिनों से जेई को रंगे हाथों पकड़ने के लिए इटावा में घात लगाए बैठी थी.

गुजरात : संकट के दौर से गुजर रहा हीरा कारोबार, दिवाली वेकेशन बढ़ा, कई कर्मचारियों की नौकरी भी गई

शिकायतकर्ता ने कहा कि उसे वेल्डिंग के काम के लिए बिजली कनेक्शन लेना था, इसके लिए बिजली विभाग में जेई राकेश यादव ने उससे 35 हजार रुपए मांगे थे,  लेकिन पैसे न होने के कारण वह पिछले डेढ़ महीने से विभाग के चक्कर लगा रहा था, इस वजह से उसने इंटरनेट पर एंटी करप्शन टीम का नंबर ढूंढकर उनसे फोन द्वारा सम्पर्क साधा, जिसके बाद एंटी करप्शन टीम ने शिकायतकर्ता को कानपुर बुलाया और उससे लिखित में एक शिकायत ले ली, जेई को रंगे हाथ पकड़ने के लिए एंटी करप्शन की टीम इटावा आई और शनिवार को 27 हजार रुपए की रिश्वत लेते राकेश को एसीबी की टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

22 दिसंबर को होगी GST कॉउन्सिल की 31वीं बैठक, सस्ती हो सकती है कई वस्तुएं

एंटी करप्शन टीम के इंस्पेक्टर शम्भू नाथ शुक्ल ने कहा कि इटावा से एक शिकायतकर्ता ने उनसे शिकायत की थी कि उससे बिजली कनेक्शन के नाम पर जेई राकेश यादव 35 हजार रुपए की रिश्वत मांगी जा रही है. जिसके बाद हम लोगों ने उसे कानपुर दफ्तर बुलाकर जेई के विरुद्ध एक शिकायत पत्र लिखवाया और जेई को रंगे हाथों पकड़ने के लिए इटावा पहुंचे, शनिवार को जब जेई राकेश यादव को एसडी फील्ड में बने बिजली विभाग दफ्तर के गेट पर 27 हजार रुपए रिश्वत ले रहा था, तभी उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया है.

खबरें और भी:-

 

पेट्रोल-डीज़ल : खुशियों पर लगेगा ब्रेक, नए साल में महंगा होगा पेट्रोल-डीज़ल

पेट्रोल-डीज़ल : आज फिर गिरे दाम, जानिए महानगरों में क्या है भाव

इंडिगो बनी 200 एयरक्राफ्ट वाली देश की पहली कंपनी