उन्नाव केस में हुआ बड़ा खुलासा, रॉन्ग साइड से आ रहे ट्रक को लेकर सामने आई यह बात

Aug 01 2019 01:36 PM
उन्नाव केस में हुआ बड़ा खुलासा, रॉन्ग साइड से आ रहे ट्रक को लेकर सामने आई यह बात

नई दिल्ली : उन्नाव रेप पीड़िता की कार एक्सीडेंट मामले की सीबीआई जांच शुरू कर दी गई है. घटनास्थल पर पहुंची टीम को जानकारी मिली है कि हादसे के समय पीड़िता की गाड़ी की स्पीड ट्रक से ज्यादा तेज थी और वहीं ट्रक की भी रफ्तार बेहद तेज थी. ट्रक तेजी से दाहिने तरफ से रॉन्ग साइड से आ रहा था. जबकिगलत साइड से ट्रक की तेज रफ्तार देख पीड़िता के कार ड्राइवर द्वारा बचाने की भरपूर कोशिश की गई, हालांकि वह इसमें असफल रहा. 

बताया जा रहा है कि रफ्तार बहुत तेज होने के चलते ट्रक के पिछले हिस्से से कार टकरा गई थी.सीबीआई द्वारा अपनी शुरुआती जांच में घटनास्थल पर मौजूद 2 चश्मदीद दुकानदारों से हादसे के बारे में आंखों देखा हाल पूछा गया है. वहीं सीबीआई द्वारा गिरफ्तार ट्रक ड्राइवर आशीष पाल और क्लीनर मोहन से कई घंटों तक पूछताछ भी की गई है. हिरासत में रखे गए ट्रक मालिक से भी सीबीआई द्वारा पूछताछ की गई है. 

जानकारी के मुताबिक़, सीबीआई ने पूछताछ के बाद ट्रक मालिक को छोड़ दिया है. खबर है कि इस मामले में सीबीआई ट्रक मालिक से दोबारा भी पूछताछ कर सकती है. बता दें कि रायबरेली पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम(एसआईटी) से भी सीबीआई द्वारा पूछताछ की गई है. इतना ही नहीं साथ ही विशेषज्ञों से पीड़िता के कार के एक्सिडेंट और जानबूझ टक्कर मारने के संबंध में सवाल-जवाब किया गया है. बता दें कि रविवार को उन्नाव रेप पीड़िता की गाड़ी की ट्रक के साथ भिड़ंत हो गई थी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी और इस हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई है. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसके साथ भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर द्वारा रेप किया गया है और यह घटना साल 2017 की है. पीड़िता के सड़क दुर्घटना में घायल होने के बाद राजनीतिक बवाल भी हर ओर मचा हुआ है.

वैष्‍णो देवी यात्रियों के लिए बुरी खबर, इतने दिनों के लिए रोकी यात्रा

तीन तलाक बिल : राष्ट्रपति से भी मिली मंजूरी, ये है इसके प्रावधान

कमला ने ही बदली थी नेहरू की विचारधारा, स्वतंत्रता आंदोलनों में भी दिया था अहम् योगदान

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के इस नंबर पर करें फोन और जानें इमरात वैध है या अवैध