वैक्सीन ले चुके लोगों में दिख रहे हैं Omicron के ये लक्षण, रहें सतर्क

कोरोना की तीसरी लहर ने लोगों को हैरान किया हुआ है। इस समय ओमिक्रॉन का कहर चल रहा है और इसके आने के बाद से हालात और अधिक खराब हो गए हैं। इस समय भारत समेत कई देशों को इस घातक वैरिएंट का सामना करना पड़ रहा है। आप सभी को बता दें कि अब तक ओमिक्रॉन के लक्षणों को ज्यादा गंभीर नहीं माना जा रहा है हालाँकि यह पुराने सभी वैरिएंट के मुकाबले सबसे ज्यादा संक्रामक है। केवल यही नहीं बल्कि इसके अलावा, कोरोना की दोनों डोज लगा चुके लोगों में भी इसके लक्षण नजर आ रहे हैं।  जी हाँ, समय-समय पर सामने आ रहे कोविड के नए वैरिएंट्स को देखते हुए कोरोना लक्षणों के प्रोफाइल में भी बदलाव किए गए हैं।

वहीं दूसरी तरफ न्यूजजीपी में प्रोफेसर टिम स्पेक्टर ने हाल ही में बताया है कि, 'अगर साल 2020 में आए अल्फा वैरिएंट की बात करें तो इसके 3 लक्षण बेहत ही सामान्य थे जैसे- खांसी, बुखार और सूंघने की क्षमता खत्म होना।' आपको बता दें कि प्रोफेसर स्पेक्टर ZOE Covid स्टडी के प्रमुख वैज्ञानिक हैं, जिन्होंने लाखों ऐप उपयोगकर्ताओं के माध्यम से महामारी की गतिविधियों पर नज़र रखी है। उनका कहना है कि, 'इसके बाद जब डेल्टा वैरिएंट आया तो हमनें इसके लक्षणों में बदलाव देखा, जिसकी वजह से टॉप रैंकिंग में चल रहे अल्फा के लक्षण गिर के नीचे चले गए और डेल्टा के लक्षण टॉप रैंकिंग में आ गए। इनमें नाक का बहना, गले में खराश और लगातार छींक आना जैसे लक्षण आम थे। खासकर ये लक्षण उन लोगों में नजर आए जो पूरी तरह से वैक्सीनेटेड थे। '

इसी के साथ उन्होंने कहा, 'कोरोना के तीसरे वैरिएंट की बात करें तो इसे देखते हुए यह प्रतीत होता है कि यह डेल्टा के ट्रेंड को आगे बढ़ा रहा है।' आगे उन्होंने समझाते हुए कहा कि, 'ओमिक्रॉन के लक्षण किसी आम सर्दी, जुकाम और बुखार की तरह ही हैं और यह लक्षण उन लोगों में नजर आ रहे हैं जो पूरी तरह से वैक्सीनेटेड है।

ये है ZOE ऐप में बताए गए टॉप 5 लक्षण: 

-बहती नाक
-सिरदर्द
-थकान (गंभीर या हल्की)
-छींक आना
-गले में खराश।

इस शहर के चूहे हो गए कोरोना पॉजिटिव, सभी को मारने का ऐलान

कोविड अपडेट : पिछले 24 घंटे में भारत में 2।82 लाख नए मामले, 441 मौतें

अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि ओमिक्रॉन महामारी को खत्म कर देगा: फौसी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -