आदिवासियों को उद्यमी बनाने का जज्बा लेकर काम कर रहे हैं प्रवीर कृष्ण

May 27 2020 07:52 PM
आदिवासियों को उद्यमी बनाने का जज्बा लेकर काम कर रहे हैं प्रवीर कृष्ण

द ट्राइबल कोऑपरेटिव मार्केटिंग डेवलपमेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (TRIFED) के प्रबंध निदेशक का भी नाम भारत के प्रभावशाली लोगों में शामिल है. आप सभी को बता दें कि MD-TRIFED के रूप में पदभार लेने से पहले प्रवीर कृष्ण संयुक्त सचिव, जहाजरानी मंत्रालय में थे. वहीं उन्होंने शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड और ड्रेजिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड में अंशकालिक आधिकारिक निदेशक के रूप में भी काम किया है.

बहुत कम लोग जानते हैं कि इससे पहले उन्होंने 23 फरवरी, 2016 से 1 मई, 2017 तक कामराजार पोर्ट लिमिटेड के सरकारी नामित निदेशक के रूप में कार्य किया है. केवल इतना ही नहीं बल्कि एक मिशन के रूप में आदिवासी समुदाय का उत्थान प्रवीर कृष्ण के दिल के बहुत करीब है. दूसरों के लिए काम करने में प्रवीर कृष्ण हमेशा आगे रहे हैं. उन्होंने आदिवासी समुदाय के लिए दिल खोलकर काम किया है. ऐसे कामों के लिए हमेशा तत्पर रहने वाले प्रवीर कृष्ण, एमडी-ट्राइफेड होने के नाते आदिवासी स्टार्ट-अप को लागू करने में मामलों के शीर्ष पर है. केवल इतना ही नहीं इस समय कोरोना वायरस के कहर के बीच भी प्रवीर कृष्ण लगातार काम करने में लगे हुए हैं. 

इस समय भी उनका कहना है, 'मजदूरों के लिए आजीविका का नुकसान अभी एक प्रमुख मुद्दा है, इसलिए हमने उन्हें रोजगार देने की रणनीति तैयार की है. प्रकोप के कारण, घर पर उनके लिए बहुत सीमित विकल्प हैं. इसलिए हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके पास आजीविका का साधन हो. उन्हें छोटे समूहों में संगठित करना और बाजार में उनके उत्पादों को आगे बढ़ाना हमारा उद्देश्य होगा.' प्रवीर कृष्ण छत्तीसगढ़ के आदिवासी क्षेत्रों (तब अविभाजित मध्य प्रदेश का हिस्सा) में काम कर चुके हैं. श्री प्रवीर कृष्ण ने ठाना है कि वह  वनवासियों (आदिवासियों) को उद्यमी बनायेगे. उनका कहना है, 'हर साल नौ लाख वनवासियों (आदिवासियों) को उद्यमी बनाया जाएगा यानी पांच साल में 45 लाख आदिवासी उद्यमी बनेंगे।' वहीं इसके लिए उन्होंने वन-धन, जन-धन और गोबर-धन योजनाओं को जरिया माना है.  

प्रवीर जनजातीय समुदायों के बीच कोरोनावायरस के प्रसार की किसी भी घटना की जाँच करवाने के लिए भी कह चुके हैं. प्रवीर अपने काम के प्रति बहुत ईमानदार है और उन्होंने हमेशा ही आदिवासी क्षेत्रों के बारे में सोचा है. इसी वजह से आज उनका नाम फेम इंडिया मैगजीन ने जारी की '50 प्रभावशाली भारतीय 2020' की सूची में शामिल हो चुका है. वह इस सूची में 41वें स्थान पर है.

फेम इंडिया मैगजीन ने जारी की '50 प्रभावशाली भारतीय 2020' की सूची, पहले स्थान पर है PM मोदी

श्रम कानून में बदलाव के खिलाफ आंदोलन, राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन

तबाही मचाने वाला है चक्रवाती तूफान अम्फान, डर से 11 लाख लोगों ने छोड़ा घर