ग्रामीणों पर दवा का ट्रायल करने के मामले की होगी जाँच

जयपुर : जयपुर के मालपानी मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल में मानवों पर बिना उन्हें जानकारी दिए, विदेशी दवा कम्पनी की दवा का क्लिनिकल ट्रायल करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है.इस मामले पर हंगामा मचने के बाद चिकित्सा मंत्री ने जाँच के आदेश दिए हैं.

इस मामले में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार 25 अनपढ़ ग्रामीणों को काम दिलाने के नाम पर चूरू और भरतपुर से जयपुर के वीकेआई स्थित मालपानी हॉस्पिटल लाया गया. उन्हें अस्पताल ने एक हजार रुपए तक की दिहाड़ी देने का झांसा देकर अस्पताल लाया गया. जहां बहुराष्ट्रीय दवा कम्पनी द्वारा तैयार बगैर किसी नाम की टेबलेट देकर रोगियों पर प्रयोग यानी ड्रग ट्रायल किया गया . इस धोखे का खुलासा तब हुआ जब इन ग्रामीणों को दवा खाने के बाद नशा चढ़ा.


बता दें कि इस शिकायत के सामने आने पर चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने हॉस्पिटल के खिलाफ जांच के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता को निर्देश दिए देकर कहा कि जांच में दोषी पाए जाने पर हॉस्पिटल के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए. जबकि दूसरी ओर अस्पताल के संचालक डॉ. एनके मालपानी ने कहा कि उन्होंने कोई अनैतिक कार्य नहीं किया है.उनका अस्पताल केन्द्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय से अधिकृत ट्रायल सेंटर है.इसके बावजूद ढिगारिया गांव के आठ ग्रामीणों ने बीदासर पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है .

यह भी देखें

रेलवे ने फिक्स किया ट्रेन में सोने का समय

राजस्थान में सर्वसमाज ने मौन जुलूस निकाला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -