शरीर में फोलेट की कमी होने पर महिलाओं को हो सकती हैं यह बीमारियां

औरतें सुबह से लेकर शाम तक किसी ना किसी काम में लगी रहती हैं. जिसकी वजह से वह अपने खान-पान और सेहत का ध्यान नहीं रख पाती हैं, और इसी वजह से उनके शरीर में फोलेट यानी फोलिक एसिड की कमी हो जाती है. शरीर में फोलिक एसिड की कमी होने पर शरीर में कमजोरी आने के साथ साथ दूसरी बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है. फोलिक एसिड को विटामिन बी 9 के नाम से भी जाना जाता है. फोलिक एसिड शरीर में लाल ब्लड सेल्स और डीएनए का निर्माण करने में मदद करता है. इसके अलावा फोलिक एसिड ब्रेन नर्वस सिस्टम और रीढ़ की हड्डियों में तरल पदार्थ पहुंचाने का काम करता है. शरीर में फोलिक एसिड की कमी होने पर कई बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है. 

1- अगर किसी महिला के शरीर में फोलिक एसिड की कमी हो तो उसे थकान, चक्कर आना, सांस फूलना, त्वचा में पीलापन आना, अनियमित दिल की धड़कन, अचानक वजन घटना, हाथ पैरों का सुन्न होना, मांसपेशियों में कमजोरी और अनियमित मासिक धर्म जैसी समस्याएं हो सकती हैं. 

2- महिलाओं के शरीर में फोलेट की कमी होने पर हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है. फोलिक एसिड शरीर में हीमोसिस्टीम के लेबल को नियमित रूप से बनाए रखता है. 

3- फोलिक एसिड की कमी होने से हीमोग्लोबिन का लेवल कम हो जाता है जिससे दिल के साथ-साथ हार्ट अटैक और हार्ट स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है. 

4- फोलेट की कमी के कारण महिलाओं को मानसिक विकार जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं. जैसे तनाव डिप्रेशन साइक्लोथीमिया आदि.

 

जानिए क्या है सहजन खाने के फायदे

सोया मिल्क में शहद मिलाकर पीने से सेहत को मिलते हैं बहुत सारे फायदे

महिलाओं के लिए फायदेमंद होता है सिंघाड़े का सेवन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -