'बेटों की जिंदगी के लिए पहनाए ताबीज, फिर खुद ने ही उतार दिया मौत के घाट', चौंकाने वाला है मामला

'बेटों की जिंदगी के लिए पहनाए ताबीज, फिर खुद ने ही उतार दिया मौत के घाट', चौंकाने वाला है मामला
Share:

अलीगढ़: यूपी के अलीगढ़ से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है यहाँ एक कलयुगी मां ने पहले अपने दो बेटों को जहर देकर मार डाला। फिर स्वयं भी जहर खा लिया। मगर वह बच गई। महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। उसका उपचार चिकित्सालय में जारी है। मामला अतरौली क्षेत्र के गांव पिलखनी गांव का है। घरवाले इस घटना को छिपाने का प्रयास कर रहे थे। मगर पुलिस को इसकी खबर लग गई। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। महिला के होश में आने की प्रतीक्षा की जा रही है। जिससे पुलिस उसका बयान दर्ज कर सके। पुलिस ने एक बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। वहीं, दूसरे के शव को घरवालों ने पहले ही दफना दिया है। प्राप्त खबर के अनुसार, पिलखुनी निवासी कन्हैया की शादी 5 वर्ष पहले एटा के गांव हुसनपुर निवासी आरती से हुई थी। परिवार में 3 वर्षीय बेटा पवन एवं 3 माह का अमन था। पुलिस ने बताया, कन्हैया शराब का आदी है। आए दिन शराब को लेकर आरती का पति से झगड़ा होता रहता था।

घर में बढ़ते विवाद के चलते आरती ने खुदखुशी करने के लिए ताना-बाना बुनना शुरू कर दिया। दोनों बेटों को लेकर चिंतित आरती उन्हें मारकर स्वयं मरना चाहती थी। मंगलवार को उसने दूध में जहरीला पदार्थ मिला कर पहले 3 महीने के बेटे अमन के जबरन मुंह में दूध डाल दिया, जिससे उसने दम तोड़ दिया। तत्पश्चात, उसने 3 वर्षीय पवन को भी अपनी गोद में जबरन लिटा लिया तथा चम्मच से उसके मुंह में जहरीला दूध डाल दिया। जहर का असर होने लगा। महिला को जब महसूस हो गया कि उसके दोनों बेटों की मौत हो गई है तो बाद में उसने स्वयं भी जहरीला दूध पी लिया। आरती की तबीयत खबर होते देख परिजनों को शक हुआ। आनन-फानन में आरती को सीएचसी अतरौली लेकर पहुंचे, जहां से डॉक्टर्स ने एएमयू के जेएन मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया। फिलहाल उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। उधर पुलिस ने पवन के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जबकि, अमन का घरवालों ने बिना पुलिस को सूचना दिए ही शव को दफना दिया था। पुलिस अभी आरती के होश में आने की प्रतीक्षा कर रही है। होश आने पर पुलिस उसके बयान दर्ज करेगी।

बेटों को किसी की नजर न लगे इसके लिए आरती ने अपने बेटों के गले में ताबीज डलवा रखे थे। इससे लगता है कि आरती अपने दोनों बेटों को बहुत चाहती थी। मगर पति की हरकतों से नाखुश होने के चलते वह बेटों की जान की प्यासी बन गई। आरती स्वयं खुदखुशी करने के बाद अपने बेटों को अकेला छोड़ना नहीं चाहती थी। इसलिए वह स्वयं मरने से पहले दोनों बेटों को मौत की नींद सुला दिया। मगर स्वयं अभी जिन्दगी से जूझ रही है। इस घटनना से गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। दो मासूमों की मौत से गांव के लोग हिल गये हैं। उधर आरती की भाभी और भाई कोतवाली अतरौली पहुंचे जिन्होंने अपने भांजों की मौत के लिए उसके पति एवं ससुर को जिम्मेदार ठहराया है। वारदात मंगलवार प्रातः लगभग 7 बजे की है। लेकिन पुलिस को इसकी सूचना बुधवार को मिली। खबर प्राप्त होते ही पुलिस हरकत में आ गई। पुलिस ने पवन के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर पति कन्हैया वारदात के बाद से ही घर से फरार है।

जय श्रीराम लिखा और 56 फीसदी अंकों से पास हो गए 4 छात्र, टीचर्स पर लटकी तलवार

वायुसेना का विमान हुआ क्रैश, धमाके से डरे लोग

शादी के दिन दूल्हे ने कर दी ऐसी करतूत, थाने पहुंच गई दुल्हन

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -