Share:
खाने में ये चीजें बढ़ा सकती हैं बेचैनी और घबराहट, रहें सावधान
खाने में ये चीजें बढ़ा सकती हैं बेचैनी और घबराहट, रहें सावधान

हमारी तेज़-तर्रार ज़िंदगी में, हम अक्सर न केवल पोषण के लिए बल्कि आराम के लिए भी भोजन की ओर रुख करते हैं। हालाँकि, यह जानना महत्वपूर्ण है कि कुछ खाद्य पदार्थ हमारे मूड और सेहत पर सीधा प्रभाव डाल सकते हैं। इस लेख में, हम यह पता लगाएंगे कि कैसे कुछ खाद्य विकल्प बेचैनी और घबराहट में योगदान कर सकते हैं, और आप बेहतर मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए कैसे सूचित आहार संबंधी निर्णय ले सकते हैं।

बेचैनी और घबराहट को समझना

भोजन की बारीकियों में जाने से पहले, आइए संक्षेप में परिभाषित करें कि बेचैनी और घबराहट क्या होती है। बेचैनी उत्तेजना की स्थिति या स्थिर रहने में असमर्थता है, जो अक्सर बेचैनी की भावना के साथ होती है। दूसरी ओर, घबराहट में चिंता, तनाव या चिंता की भावनाएँ शामिल होती हैं। दोनों स्थितियाँ हमारे दैनिक जीवन और समग्र मानसिक स्वास्थ्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकती हैं।

चीनी की भूमिका

छिपे हुए चीनी बम

बेचैनी और घबराहट के पीछे मुख्य कारणों में से एक है अत्यधिक चीनी का सेवन। चीनी युक्त खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ ऊर्जा में वृद्धि का कारण बन सकते हैं, जिसके बाद दुर्घटनाएं हो सकती हैं, जिससे आप घबराहट और चिंता महसूस कर सकते हैं।

चीनी-इंसुलिन रोलरकोस्टर

जब आप मीठी चीजें खाते हैं, तो आपके रक्त में शर्करा का स्तर बढ़ जाता है, जिससे ऊर्जा में वृद्धि होती है। हालांकि, शरीर रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन जारी करके प्रतिक्रिया करता है, जिससे ऊर्जा में अचानक गिरावट और मूड में बदलाव होता है।

कैफीन और उसके प्रभाव

बेचैनी पर कैफीन का प्रभाव

कैफीन एक प्रसिद्ध उत्तेजक है जो कॉफी, चाय, ऊर्जा पेय और विभिन्न शीतल पेय में पाया जाता है। हालांकि यह अस्थायी ऊर्जा को बढ़ावा दे सकता है, अत्यधिक कैफीन के सेवन से बेचैनी और घबराहट हो सकती है।

नींद में खलल डालने वाला

कैफीन आपकी नींद के पैटर्न में बाधा डाल सकता है, जिससे रात में अच्छी नींद लेना मुश्किल हो जाता है। नींद में यह व्यवधान दिन के दौरान बेचैनी और चिंता की भावनाओं को बढ़ा सकता है।

प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ और कृत्रिम योजक

छुपे हुए रसायन

प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों में अक्सर संरक्षक और खाद्य रंग जैसे कृत्रिम योजक होते हैं, जो आपके मूड पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। ये रसायन संवेदनशील व्यक्तियों में बेचैनी और घबराहट पैदा कर सकते हैं।

अतिसक्रियता से संबंध

कुछ अध्ययन बच्चों और वयस्कों में कृत्रिम योजकों और अतिसक्रियता के बीच संबंध का सुझाव देते हैं। हालाँकि हर कोई समान रूप से प्रभावित नहीं होता है, लेकिन अपने आहार में इन योजकों का ध्यान रखना आवश्यक है।

संतुलित पोषण का महत्व

मानसिक स्वास्थ्य के लिए संपूर्ण खाद्य पदार्थ

फलों, सब्जियों, दुबले प्रोटीन और साबुत अनाज जैसे संपूर्ण खाद्य पदार्थों से भरपूर आहार का चयन करने से आपके मूड को स्थिर करने और बेचैनी और घबराहट को कम करने में मदद मिल सकती है।

ओमेगा-3 फैटी एसिड की शक्ति

सैल्मन और फ्लैक्ससीड्स जैसे ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करने से तंत्रिका तंत्र पर शांत प्रभाव पड़ सकता है और कल्याण की भावना को बढ़ावा मिल सकता है।

जलयोजन और उसका प्रभाव

निर्जलीकरण और घबराहट

अपर्याप्त जलयोजन भी बेचैनी और घबराहट में योगदान कर सकता है। जब आपके शरीर में उचित जलयोजन की कमी होती है, तो यह संज्ञानात्मक कार्य और मनोदशा को प्रभावित कर सकता है।

पूरे दिन पानी पीते रहें

नियमित रूप से पानी पीने से हाइड्रेटेड रहने से आपके मानसिक संतुलन को बनाए रखने और बेचैनी की भावनाओं को कम करने में मदद मिल सकती है।

ध्यानपूर्वक भोजन करने की प्रथाएँ

माइंडफुलनेस का महत्व *

भोजन करते समय सचेतनता का अभ्यास करने से आपको इस बारे में अधिक जागरूक होने में मदद मिल सकती है कि भोजन आपके मूड को कैसे प्रभावित करता है। अपने शरीर के संकेतों पर ध्यान देने से बेचैनी और घबराहट पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन को रोका जा सकता है।

धीरे चलें और स्वाद लें *

अपने भोजन का आनंद लेने के लिए अपना समय लें, प्रत्येक टुकड़े का स्वाद लें। यह आपके खाने के अनुभव को बढ़ा सकता है और आपको स्वस्थ भोजन विकल्प चुनने में मदद कर सकता है। आप जो खाते हैं वह आपके मानसिक स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बेचैनी और घबराहट को कम करने के लिए, अपने आहार विकल्पों के प्रति सचेत रहना आवश्यक है। चीनी और कैफीन का सेवन सीमित करना, कृत्रिम योजक वाले प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों से परहेज करना, और संपूर्ण, पौष्टिक खाद्य पदार्थों को प्राथमिकता देना, ये सभी मन की शांत, अधिक संतुलित स्थिति में योगदान कर सकते हैं। याद रखें, आपके आहार में छोटे-छोटे बदलाव आपके समग्र मानसिक स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण सुधार ला सकते हैं। जानकारीपूर्ण विकल्प चुनकर और इस बात पर ध्यान देकर कि विभिन्न खाद्य पदार्थ आपको कैसा महसूस कराते हैं, आप अपनी भावनात्मक भलाई पर नियंत्रण रख सकते हैं।

गणेशोत्सव पर बनाएं केसर श्रीखंड, बप्पा होंगे प्रसन्न

गणेश उत्सव पर दिल्ली की इन जगहों पर जाना न भूलें

कोलेस्ट्रॉल को जल्दी कम करते हैं ये खाद्य पदार्थ

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -