'जेल में केजरीवाल को धीमी मौत देने की साजिश चल रही..', दिल्ली सीएम के शुगर लेवल पर सियासत तेज
'जेल में केजरीवाल को धीमी मौत देने की साजिश चल रही..', दिल्ली सीएम के शुगर लेवल पर सियासत तेज
Share:

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (AAP) ने आज शनिवार को आरोप लगाया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इंसुलिन और डॉक्टर से परामर्श न देकर तिहाड़ जेल के अंदर उन्हें ''धीमी मौत'' की ओर धकेला जा रहा है। पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि टाइप-2 मधुमेह से पीड़ित अरविंद केजरीवाल इंसुलिन और अपने पारिवारिक डॉक्टर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की मांग कर रहे हैं, लेकिन जेल प्रशासन उनके अनुरोध को अस्वीकार कर रहा है।

जेल में मुख्यमंत्री की ब्लड शुगर रीडिंग का हवाला देते हुए सौरभ भारद्वाज ने दावा किया कि, ''मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ कहना चाहता हूं कि अरविंद केजरीवाल की धीमी मौत की साजिश चल रही है।'' उन्होंने केजरीवाल को कथित तौर पर इंसुलिन देने से इनकार करने के लिए तिहाड़ प्रशासन, भाजपा, केंद्र और दिल्ली एलजी की भी आलोचना की और कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री पिछले 20-22 वर्षों से मधुमेह से पीड़ित हैं। शुक्रवार को, मुख्यमंत्री के वरिष्ठ वकील और कांग्रेस सांसद अभिषेक सिंघवी ने कहा कि गिरफ्तारी के बाद से केजरीवाल को उनके सुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन नहीं दिया गया है, उन्होंने इसे "चौंकाने वाला" और "खतरनाक" बताया।

वहीं, ED ने गुरुवार को अदालत को बताया था कि मेडिकल जमानत हेतु आधार बनाने के लिए टाइप 2 मधुमेह होने के बावजूद केजरीवाल हर दिन आम और मिठाई जैसे उच्च चीनी वाले भोजन खा रहे थे। हालाँकि, केजरीवाल ने अदालत के समक्ष यह कहकर ईडी के दावों का खंडन किया कि उन्होंने जो भोजन खाया वह उनके डॉक्टर द्वारा तैयार किए गए आहार चार्ट के अनुरूप था। सिंघवी ने अदालत को बताया, "घर से भेजे गए 48 भोजन में से केवल तीन बार आम थे।" वहीं, भारद्वाज ने कहा कि अदालत ने केजरीवाल को अपने दैनिक सुगर लेवल की  निगरानी के लिए जेल में एक मशीन का उपयोग करने की अनुमति दी थी।

भरद्वाज ने कहा कि, पूरी योजना केजरीवाल को धीमी मौत देने की है, जैसे उनके कई अंगों को नुकसान पहुंचे। 2-4 महीने जेल में बिताने के बाद, उन्हें अपनी किडनी, हृदय और अन्य अंगों के इलाज की आवश्यकता होगी।

केरल के ‘त्रिशूर पूरम’ उत्सव पर वामपंथी सरकार ने लगाए कई प्रतिबंध, पहली बार रात में आतिशबाज़ी पर रोक

शादी का खाना खाना लोगों को पड़ा भरा, 24 अस्पताल में हुए भर्ती

'भाजपा संविधान बदल देगी..', विपक्ष के आरोप पर क्या बोले अजमेर दरगाह के दीवान सैयद जैनुल आबेदीन ?

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -